भारत छोड़ो आंदोलन कब शुरू हुआ था , भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत कब की when did quit india movement started in hindi

By   June 1, 2021

when did quit india movement started in hindi begin भारत छोड़ो आंदोलन कब शुरू हुआ था , भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत कब की ?

1. 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन आरंभ करने के लिए कौन सा मुख्य कारण था?
(अ) क्रिप्स मिशन की विफलता
(ब) अंग्रेजों का विश्व युद्ध II में उलझ जाना
(स) लोगों में घोर बेचैनी
(द) साइमन कमीशन की रिपोर्ट
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
क्रिप्श मिशन (1942) की विफलता ने अंततः ‘भारत छोड़ो आंदोलन‘ को जन्म दिया। 7 अगस्त, 1942 को बंबई के ऐतिहासिक ग्वालिया टैंक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की वार्षिक बैठक, जिसकी अध्यक्षता अबुल कलाम आजाद ने की, जिसमें वर्धा प्रस्ताव (भारत छोड़ो) की पुष्टि हुई। 8 अगस्त, 1942 को प्रस्ताव स्वीकार कर लिया गया और 9 अगस्त, 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन आरंभ हुआ।
2. अंग्रेजों के लिए गांधीजी का प्रसिद्ध भारत छोड़ो आंदोलन का आरंभ कब हुआ?
(अ) 1942 (ब) 1941
(स) 1943 (द) 1940
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
3. भारत छोड़ो आंदोलन 1942 में किस महीने में शुरू किया गया था?
(अ) जनवरी (ब) मार्च
(स) अगस्त (द) दिसंबर
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2009
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
4. क्रिप्स मिशन भारत में कब आया?
(अ) 1946 (ब) 1945
(स) 1942 (द) 1940
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
स्टैफोर्ड क्रिप्स के नेतृत्व में क्रिप्स मिशन भारतीय नेताओं से वार्ता हेतु मार्च, 1942 में भारत आया।
5. ‘‘भारत छोड़ो आंदोलन‘‘ के दौरान ‘समानान्तर सरकार‘ का गठन कहां किया गया था?
(अ) वाराणसी (ब) इलाहाबाद
(स) लखनऊ (द) बलिया
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
1942 ई. के भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान देश के कई क्षेत्रों में समानान्तर सरकारें स्थापित की गई थीं। बलिया (उ.प्र.) उन क्षेत्रों में से एक था जहां समानान्तर सरकार का गठन किया गया था। यहां की सरकार का नेतृत्व चित्तू पांडे ने किया था। बलिया के अतिरिक्त बंगाल के तामलुक, महाराष्ट्र के सतारा एवं उड़ीसा के तलचर में भी भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान समानान्तर सरकारें गठित की गई थीं।
6. स्वतंत्र भारत में निम्नलिखित में से कौन-सी महिला किसी राज्य की पहली राज्यपाल थी?
(अ) श्रीमती सरोजिनी नायडू
(ब) श्रीमती सुचेता कृपलानी
(स) श्रीमती इंदिरा गांधी
(द) श्रीमती विजयलक्ष्मी पंडित
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2009
उत्तर-(अ)
स्वतंत्र भारत में उत्तर प्रदेश की प्रथम राज्यपाल (15 अगस्त, 1947 से 1 मई, 1949 तक) श्रीमती सरोजिनी नायडू थी। यह किसी भी राज्य की पहली महिला राज्यपाल थी।
7. चैरी-चैरा कांड के बाद गांधीजी ने स्थगित कर दिया-
(अ) सविनय अवज्ञा आंदोलन (ब) खिलाफत आंदोलन
(स) असहयोग आंदोलन (द) भारत छोड़ो आंदोलन
S.S.C. (डाटा एंट्री ऑपरेटर) परीक्षा, 2009
उत्तर-(स)
चैरी चैरा कांड (5 फरवरी, 1922) के बाद गांधीजी ने असहयोग
आंदोलन को स्थगित कर दिया।
8. असहयोग आंदोलन को किसके कारण स्थगित किया गया था?
(अ) पूना समझौता (ब) जालियांवाला बाग त्रासदी
(स) चैरी-चैरा घटना (द) गांधी इर्विन समझौता
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
9. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने असहयोग का अपना प्रसिद्ध प्रस्ताव 1920 में कहां आयोजित अपने अधिवेशन में पारित किया था?
(अ) लखनऊ में (ब) दिल्ली में
(स) बंबई में (द) कलकत्ता में
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2007.
उत्तर-(द)
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने असहयोग का अपना प्रसिद्ध प्रस्ताव 1920 ई. में कलकत्ता में स्वीकार किया था। यह एक विशेष अधिवेशन था जिसकी अध्यक्षता लाला लाजपत राय ने की थी।
10. किस आंदोलन को हिंदुओं और मुसलमानों दोनों का समर्थन मिला था?
(अ) चंपारण सत्याग्रह (ब) विभाजन-विरोधी आंदोलन
(स) असहयोग आंदोलन (द) भारत छोड़ो आंदोलन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
खिलाफत आंदोलन (1920) और असहयोग आंदोलन (1920-22) में हिंदुओं और मुसलमानों दोनों का समर्थन मिला था। इस संदर्भ में एंचिसन की टिप्पणी उल्लेखनीय है-इस मिसाल में हम मुसलमानों को हिंदुओं से भिड़ा नहीं पाए। इसी संदर्भ में गांधीजी ने कहा था ‘हिंदुओं और मुसलमानों की एकता के एक ऐसे अवसर‘ के रूप में देखा जो सौ वर्षों में भी पुनः प्रस्तुत नहीं होगा।
11. सत्याग्रह के तीन प्रमुख स्वरूप कौन-से हैं?
(अ) क्रांति, जनमत तथा बहिष्कार
(ब) असहयोग, सविनय अवज्ञा तथा बहिष्कार
(स) बहिष्कार, सविनय अवज्ञा तथा विद्रोह
(द) असहयोग, क्रांति तथा अस्वीकार (जनमत-संग्रह)
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
सत्याग्रह के तीन प्रमुख स्वरूप-असहयोग, सविनय अवज्ञा तथा बहिष्कार हैं।
12. 1930 में सविनय अवज्ञा आंदोलन किस मुद्दे पर शुरू
किया गया था?
(अ) भारतीयों के लिए रोजगार के समान अवसर
(ब) भगत सिंह को फांसी देने का प्रस्ताव
(स) ब्रिटिश सरकार द्वारा अपनाया गया नमक एकाधिकार (द) पूर्व स्वतंत्रता
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
सविनय अवज्ञा आंदोलन 12 मार्च, 1930 को गांधीजी के प्रसिद्ध दांडी मार्च के साथ अहमदाबाद से आरंभ हुआ। गांधीजी 6 अप्रैल, 1930 को दांडी पहुंचे, समुद्र तल से मुठ्ठी भर नमक उठाया, इस प्रकार ब्रिटिश सरकार द्वारा अपनाए गए नमक एकाधिकार को तोड़ दिया। यह इस बात का प्रतीक था कि भारतीय जनता अब ब्रिटिश कानूनों और ब्रिटिश शासन के अंतर्गत जीने के लिए तैयार नहीं है। इस प्रकार आंदोलन तो तत्कालिक मुद्दे नमक एकाधिकार को लेकर शुरू किया गया था। परंतु इसका दीर्घकालिक लक्ष्य पूर्ण स्वराज्य था। इस प्रकार अभीष्ट विकल्प (स) सही है।
13. गांधीजी की दांडी यात्रा निम्न में से किसका उदाहरण है?
(अ) सीधी कार्रवाई (ब) बहिष्कार
(स) सविनय अवज्ञा (द) असहयोग
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
14. महात्मा गांधी द्वारा सविनय अवज्ञा आंदोलन किस वर्ष में शुरू किया गया था?
(अ) 1928 (ब) 1930
(स) 1931 (द) 1922
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
15. ‘नमक सत्याग्रह‘ किस सन में प्रारंभ हुआ था?
(अ) 1930 में (ब) 1932
(स) 1928 में (द) 1931 में
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
16. गांधी का ‘दांडी (डांडी) मार्च‘ किसका हिस्सा था?
(अ) असहयोग आंदोलन
(ब) स्वशासन लीग (संघ)
(स) सविनय अवज्ञा आंदोलन
(द) भारत छोड़ो आंदोलन
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-1) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
17. नमक कानून के उल्लंघन में गांधीजी ने एक आंदोलन शुरू किया था, जिसका नाम था-
(अ) असहयोग आंदोलन (ब) स्वदेशी आंदोलन
(स) सविनय अवज्ञा आंदोलन (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
18. ‘पूर्ण स्वराज्य‘ की शपथ कांग्रेस के किस अधिवेशन में ली गई थी?
(अ) कलकत्ता (ब) लाहौर
(स) इलाहाबाद (द) मद्रास
S.S.C. C.P.O. परीक्षा, 2009
उत्तर-(ब)
कांग्रेस का चैवालीसवां अधिवेशन 29-31 दिसंबर 1929 ई. को जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में लाहौर में हुआ था। इसी अधिवेशन में पूर्ण स्वराज्य का प्रस्ताव पारित किया गया। 31 दिसंबर, 1929 को अर्धरात्रि के समय जवाहरलाल नेहरू ने रावी नदी के तट पर स्वतंत्रता का द्योतक ‘तिरंगा‘ फहराया। 26 जनवरी, 1930 को स्वतंत्रता दिवस मनाने का निश्चय किया गया था।
19. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के किस सत्र में ष्पूर्ण स्वराजष् की घोषणा की गई थी?
(अ) कराची (ब) लाहौर
(स) कोलकाता (द) नागपुर
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
20. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के किस सत्र में ‘पूर्ण स्वराज‘ प्रस्ताव स्वीकार किया गया?
(अ) 1916 में लखनऊ सत्र
(ब) 1924 में बेलगांव सत्र
(स) 1929 में लाहौर सत्र
(द) 1931 में करांची सत्र
S.S.C. मल्टी टॉस्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।