STATIC EXAMPLE in c++ language , STATIC program source code with explanation in hindi

By  
STATIC program source code with explanation in hindi , STATIC EXAMPLE in c++ language :-
इससे पहले के article मे , c++ language के  कुछ advance उदाहरणों को discuss किया है जो की static data type और static variable और static object के उदाहरन को discuss करेगे |
उदाहरन – 1
इस उदाहरन class को static function और static class  को use किया गया है  |
Explanation
सबसे पहले  static class Example को define किया जाता है |
इसमें  static variable a को define किया  जाता है | इसके बाद function () को declare किया जाता है |
function() मे
class मे define static variable को call किया जाता है |
इसके बाद static variable की value को display किया जाता है |
इसके बाद main() function को डेफिन किया जाता है | जिसमे एक template class example मे से variable a को define किया जाता है  |
उसके बाद  class example के लिए object को define किया जाता है |
इसके बाद object से class function को call किया जाता है | जिसमे ‘8’ को pass किया जाता है |
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
class Example {
public :
static int a;
static int function(int c) {
cout << “call of Static member function “;
cout << “\nThe value of c is: ” << c ;
}
};
int Example::a=28;
void main() {
Example obj;
Example::func(8);
cout << “\nThe value of the static data member a is: ” << obj.a;
getch();
}
इसका आउटपुट होगा :
call of Static member function
The value of c  : 28
The value of the static data member a is: 8
उदाहरन -2
इस उदहारण मे , static object को declare किया जाता है |
Explantion
सबसे पहले  class pool को define किया जाता है |
इसमें  normal variable a को define किया  जाता है | इसके बाद function () को declare किया जाता है | जबकि पहले वाले उदाहरन मे static variable को define किया जाता है | अतः इसकी value को कभी भी change किया जा सकता है |
function() मे
class मे define normal variable को call किया जाता है |
इसके बाद normal variable की value को display किया जाता है |
इसके बाद main()function को डेफिन किया जाता है | जिसमे   class pool के लिए  static object को define किया जाता है |
इसके बाद object से class function को call किया जाता है | जिसमे कोई भी function मे pass नहीं  किया जाता है |
source code
#include <iostream>
using namespace std;
class pool {
public :
int function () {
int c = 20;
cout << “The value of c  : ” << c ;
}
};
void main() {
static pool b;
b.function ();
getch();
}
इसका आउटपुट होगा :
The value of c  : 20
उदाहरन -3
इस function मे static variable को define किया जाता है |
Explantion
सबसे पहले  class display को define किया जाता है |
इसमें  दो static variable a और b को define किया  जाता है जिसमे मे से a की value को initail किया जाता है | और b की value को 12 से initial किया जाता है |
function() मे
class मे  दो  normal variable को define किया जाता है |
इसके बाद  दो static variables की value को display किया जाता है |
इसके बाद main()function को डेफिन किया जाता है | जिसमे   class display के लिए  object ‘d’ को define किया जाता है |
इसके बाद object ‘d’ से  function को call किया जाता है | जिसमे कोई भी function मे pass नहीं  किया जाता है | जब इस function को call किया जाता है तब function के variable ‘a’ की value मे यूजर द्वारा value को input किया जाता है | को print किया जाता है |
और इसके बाद static variable जिसे value को initial किया गया है को print किया जाता है |
source code
#include <iostream>
using namespace std;
class display  {
public :
int function () {
static int a;
static int b = 12;
cout<<“enter value : “<<endl;
cin>>a;
cout << ” Static variable a is: ” << a;
cout << “\n Static variable b is: ” << b;
}
};
void main() {
display d;
d.function ();
getch();
}