तराइन का द्वितीय युद्ध कब और किसके बीच हुआ था second battle of tarain fought between in hindi

By   May 15, 2021

when and second battle of tarain fought between in hindi तराइन का द्वितीय युद्ध कब और किसके बीच हुआ था ?

प्रश्न :  तराइन की दूसरी लड़ाई में पृथ्वीराज को किसने पराजित
किया था?
(अ) महमूद गजनवी (ब) कुतुबुद्दीन ऐबक
(स) मुहम्मद गोरी (द) अलाउद्दीन खिलजी
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
तराइन की पहली लड़ाई 1191 ई. में मुहम्मद गोरी और पृथ्वीराज चैहान के बीच हुई थी। इसी मैदान पर दूसरी लड़ाई इनके बीच 1192 ई. में हुई। प्रथम युद्ध में पृथ्वीराज विजयी रहे, जबकि द्वितीय युद्ध में मुहम्मद गोरी की विजय हुई।
3. पृथ्वीराज चैहान को मुहम्मद गोरी ने किस युद्ध में हराया
था?
(अ) तराइन, 1191 ई. में (ब) तराइन, 1192 ई. में
(स) चंदावर, 1193 ई. में (द) रणथंभौर, 1195 ई. में
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
4. किस लड़ाई ने मुहम्मद गोरी के लिए दिल्ली क्षेत्र खोल दिया?
(अ) तराइन की पहली लड़ाई
(ब) तराइन की दूसरी लड़ाई
(स) खानवा की लड़ाई
(द) पानीपत की पहली लड़ाई
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(ब)
1192 ई. में लड़े गए तराइन के द्वितीय युद्ध ने मुहम्मद गोरी के लिए दिल्ली क्षेत्र खोल दिया। इस युद्ध में मुहम्मद गोरी ने इस क्षेत्र पर शासन करने वाले पृथ्वीराज चैहान को पराजित कर इस क्षेत्र पर अधिकार कर लिया।
5. निम्नलिखित में से किस राजपूत राजा ने मुहम्मद गोरी को पहली बार हराया था?
(अ) पृथ्वीराज तृतीय (ब) बघेल भीम
(स) जयचन्द्र (द) कुमारपाल
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
मुहम्मद गोरी को पहली बार अन्हिलवाड़ के बघेल-शासक भीम द्वितीय ने 1178 ई. में हराया था।
6. निम्नलिखित में से किसका मिलान सही किया गया है?
व्यक्ति घटना
1. सुल्तान महमूद – सोमनाथ को लूटना
2. मुहम्मद गोरी – सिंध पर विजय
3. अलाउद्दीन खिलजी – बंगाल में विद्रोह
4. मुहम्मद बिन तुगलक – चंगेज खान का आक्रमण
(अ) 1 और 3 (ब) केवल 2
(स) केवल 1 (द) 2 और 4
S.S.C.k~ Tax Asst. परीक्षा, 2009
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
सुल्तान महमूद गजनवी द्वारा सोमनाथ की लूट की गई थी। अन्य सभी विकल्पों का सुमेलन सही नहीं है। अतः अभीष्ट विकल्प (स) सही उत्तर है।
सल्तनत काल

मध्य-कालीन भारत
 प्रारंभिक मध्य काल
ऑनलाइन परीक्षा प्रश्न (2016)
चचनामा में कौन-सी विजय के इतिहास का रिकॉर्ड है? – अरब
ऑफलाइन परीक्षा प्रश्न (2006-2015)
1. सिंध पर विजय प्राप्त करने वाले अरब सेना के सेनापति का नाम बताइए-
(अ) अल-हजाज (ब) कुतुबुद्दीन ऐबक
(स) अलाउद्दीन खिलजी (द) मुहम्मद बिन कासिम
S.S.C. मल्टी टॉस्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
उपर्युक्त में से भारत पर पहली बार आक्रमण करने वाले अरब मुस्लिम थे। 712 ई. में मुहम्मद-बिन कासिम द्वारा भारत पर आक्रमण किया गया था, जो अरब का निवासी था। इस समय सिंध का शासक दाहिर था, जिसे मुहम्मद-बिन कासिम ने हराया था।
ऑनलाइन परीक्षा-प्रश्न (2016)
 पोलो या चैगान खेलते समय किस सुल्तान की मृत्यु हुई?
-कुतुबुद्दीन ऐबक
 चांदी का सिक्का ‘टका‘ किसने चलाया था? -इल्तुतमिश
 प्रसिद्ध कवि अमीर खुसरो, अलाउद्दीन खिलजी, ग्यासुद्दीन तुगलक, इल्तुतमिश तथा जलालुद्दीन खिलजी में से किस एक को छोड़कर बाकी सबके सम-सामयिक थे? – इल्तुतमिश
 अमीर खुसरो कौन थे? – कवि
 मुहम्मद बिन तुगलक ने अपनी राजधानी कहां से कहां बदली थी?
– दिल्ली से देवगिरि
 खिज्र खां ने कौन-से राजवंश का प्रारंभ किया था?,
– सैय्यद
 दिल्ली सल्तनत की राजकीय भाषा क्या थी?
-फारसी
 कुतुबमीनार के पास स्थित महरौली पिलर प्राथमिक रूप से किस कारण प्रसिद्ध है?
– उत्कृष्ट गुणवत्ता की इस्पात के कारण
ऑफलाइन परीक्षा प्रश्न (2006-2015)
1. दिल्ली सुल्तान का शासन कब प्रारंभ हुआ?
(अ) 1106 ईसवी (ब) 1206 ईसवी
(स) 1306 ईसवी (द) 1406 ईसवी
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
दिल्ली सल्तनत का शासन 1206 ई. से शुरू होता है। इस वर्ष मुहम्मद गोरी की मृत्यु के पश्चात कुतुबुद्दीन ऐबक का औपचारिक राज्यारोहण लाहौर में किया गया। यह दिल्ली का पहला तुर्क शासक था। इसे भारत में तुर्की राज्य और दिल्ली सल्तनत का संस्थापक माना जाता है।
2. अजमेर में ढाई दिन का झोपड़ा किसने बनवाया था?
(अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) अलाउद्दीन खिलजी
(स) बलबन (द) मुहम्मद-बिन-तुगलक
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
अजमेर में अढ़ाई या ढाई दिन का झोपड़ा नामक मस्जिद कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनवाया था। यह संस्कृत विद्यालय के स्थान पर बनाया गया था। कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा बनवाई गई अन्य इमारतें ‘कुब्बत-उल-इस्लाम‘ व कुतुबमीनार हैं।
3. निम्नलिखित को कालक्रमानुसार रखें-
1. तुगलक 2. लोदी
3. सैयद 4. इल्बारी
5. खिलजी
(अ) 1,2,3,4,5 (ब) 5,4,3,2,1
(स) 2,4,5,3,1 (द) 4,5,1, 3,2
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
इल्बारी तुर्क (1210-1266 ई.), खिलजी वंश (1290-1320 ई.), तुगलक वंश (1320-1414 ई.), सैयद वंश (1414-1451 ई.), लोदी वंश (1451-1526 ई.)।
4. कुतुबमीनार किस प्रसिद्ध शासक ने पूरा किया था?
(अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) इल्तुतमिश
(स) फिरोजशाह तुगलक (द) अलाउद्दीन खिलजी
S.S.C.k~ C.P.O. परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
कुतुबमीनार की नींव कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा रखी गई थी जबकि इसे पूरा करवाने का श्रेय इल्तुतमिश को प्राप्त है। तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए मीनार के कुछ भागों की मरम्मत फिरोज तुगलक ने करवाई थी।
5. दिल्ली के सुल्तान का पद संभालने से पहले बलबन किस सुल्तान का प्रधानमंत्री था?
(अ) नासिरुद्दीन (ब) कुतुबुद्दीन ऐबक
(स) बहराम शाह (द) अराम शाह
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
दिल्ली के सुल्तान का पद संभालने से पहले बलबन, नासिरुद्दीन महमूद का प्रधानमंत्री था। नासिरुद्दीन ने बलबन को ‘उलूग खां‘ की उपाधि प्रदान की थी। 1266 ई. में नासिरुद्दीन की मृत्यु के बाद बलबन उसका उत्तराधिकारी बना, क्योंकि नासिरुद्दीन के कोई पुत्र नहीं था।
6. निम्नलिखित में से दिल्ली का पहला प्रभुता संपन्न सुल्तान कौन था?
(अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) बलबन
(स) अलाउद्दीन खिलजी (द) इल्तुतमिश
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
कुतुबुद्दीन ऐबक को भारत में ‘तुर्की राज्य का संस्थापक‘ माना जाता है। वह दिल्ली का प्रथम तुर्क शासक था। सिंहासन पर बैठने पर उसने ‘सुल्तान‘ की उपाधि नहीं ग्रहण की, बल्कि केवल ‘मलिक‘ और ‘सिपहसालार‘ की पदवियों से ही संतुष्ट रहा। ऐबक ने न अपने नाम का खुतबा पढ़वाया और न ही अपने नाम के सिक्के चलाए, बाद में गोरी के उत्तराधिकारी गयासुद्दीन ने उसे सुल्तान स्वीकार किया। ऐबक ने 1206 से 1210 ई. तक लगातार लाहौर से शासन का संचालन किया। लाहौर ही उसकी राजधानी थी। कुतुबुद्दीन का दामाद व उत्तराधिकारी इल्तुतमिश इल्बारी तुर्क था। इल्तुतमिश ही दिल्ली सल्तनत का वास्तविक संस्थापक था। इस प्रकार दिल्ली का पहला प्रभुता संपन्न सुल्तान इल्तुतमिश था।
7. दिल्ली सल्तनत का उद्धारक कौन था?
(अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) मिनास-उस-सिराज
(स) इल्तुतमिश (द) गयासुद्दीन बलबन
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
दिल्ली सल्तनत का उद्धारक इल्तुतमिश को माना जाता है। हालांकि सल्तनत का प्रथम शासक कुतुबुद्दीन ऐबक (1206-1210 ई.) था, किंतु दिल्ली सल्तनत का वास्तविक संस्थापक इल्तुतमिश (1211-1236 ई.) था, क्योंकि दिल्ली सल्तनत की शाही संरचना के प्रमुख अंगो-इक्ता प्रणाली, सैन्य व्यवस्था और मुद्रा प्रणाली को सुव्यवस्थित करने का श्रेय इल्तुतमिश को दिया जाता है। इसके साथ ही इल्तुतमिश ने ही सर्वप्रथम लाहौर के स्थान पर दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया। के.ए. निजामी के अनुसार, ‘‘इल्तुतमिश ने दिल्ली सल्तनत को एक व्यक्तित्व, एक पद, एक प्रेरणाशक्ति, एक दिशा, एक शासन व्यवस्था और शासक-वर्ग प्रदान किया‘‘।
8. नियमित मुद्रा जारी करने वाला और दिल्ली को अपने साम्राज्य की राजधानी घोषित करने वाला दिल्ली का प्रथम सुल्तान कौन था?
(अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) आलमशाह
(स) बलबन (द) इल्तुतमिश
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (ज्पमत-प्) परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
9. चंगेज खान ने जलालुद्दीन का पीछा करते हुए, किसके शासनकाल में भारत की सीमाओं पर आक्रमण किया था? (अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) इल्तुतमिश
(स) बलबन (द) नासीरुद्दीन खुसरा
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
मंगोल आक्रमणकारी चंगेज खान ने ख्वारिज्म शाह के पत्र जलालुद्दीन मांगबर्नी का पीछा करते हुए इल्तुतमिश के शासनकाल में 1220-21 ई. में सिंध पर आक्रमण किया था, परंतु इल्तुतमिश द्वारा मांगबर्नी की कोई सहायता न किए जाने और 1228 ई. में मांगबर्नी के वापस चले जाने से भारत पर मंगोल आक्रमण का भय टल गया।
10. निम्न में से किसको शक्तिशाली नोबलों के एक समूह ‘चिहालगानी‘ के विनाश का श्रेय दिया गया था?
(अ) इल्तुतमिश (ब) रजिया सुल्तान
(स) बलबन (द) कुतुबुद्दीन ऐबक
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
बलबन (1266-1286 ई.) ने इल्तुतमिश द्वारा स्थापित चालीस तुर्की सरदारों के दल (चिहालगानी) को समाप्त किया।
11. प्रसिद्ध फारसी त्योहार नौरोज का प्रवर्तन किसने किया?
(अ) अलाउद्दीन खिलजी (ब) इल्तुतमिश
(स) फिरोज तुगलक (द) बलबन
S.S.C.k~ C.P.U. परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
प्रसिद्ध फारसी त्योहार नौरोज का प्रवर्तन बलबन द्वारा किया गया था। बलबन ने अपनी प्रतिष्ठा तथा दरबारी शिष्टाचार बढ़ाने के लिए फारसी परंपराओं को अपनाया, जिसके तहत उसने दरबार में ‘सिजदा‘ तथा ‘पायबोस‘ की प्रथा प्रारंभ की और अपना संबंध फिरदौसी के शाहनामा में वर्णित ‘अफराशियाब‘ से जोड़ा।
12. चहलगनी या फोर्टी के रूप में विख्यात टर्की सामंतों की शक्ति को भंग करने वाला प्रथम दिल्ली सुल्तान कौन था? (अ) कुतुबुद्दीन ऐबक (ब) बलबन
(स) इल्तुतमिश (द) रजिया
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
चहलगानी या फोर्टी के रूप में विख्यात तकी सामंतों की शक्ति को भंग करने वाला पहला सुल्तान बलबन था। इल्तुतमिश द्वारा स्थापित 40 सामंतों के समूह का इल्तुतमिश की मृत्यु के बाद राजनीति में हस्तक्षेप बढ़ गया था। बलबन भी चहलगनी का एक सदस्य था।
13. रजिया सुल्तान किसकी बेटी थीं?
(अ) अल्तमश (इल्तुतमिश) की
(ब) कुतुबुद्दीन ऐबक की
(स) नासिरुद्दीन की
(द) बलबन की
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
रजिया सुल्तान गुलाम वंश की शासिका थीं। वह उत्तर भारत की प्रथम मुस्लिम महिला शासिका थीं। वह इल्तुतमिश की पुत्री थीं। रजिया पर्दा प्रथा त्याग कर पुरुषों की तरह चोगा एवं कुलाह पहनकर राजदरबार में खुले मुंह से जाती थीं। इन्होंने 1236-40 ई. तक शासन किया।
14. वे दो वंशज कौन थे, जिन्होंने खिलजी शासकों से तत्काल पहले और बाद में शासन किया था?
(अ) गुलाम तथा लोदी (ब) सैय्यद तथा लोदी
(स) गुलाम तथा तुगलक (द) तुगलक तथा लोदी
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
खिलजी शासकों (1290-1320 ई.) से पहले गुलाम वंश (1206-1290ई.) तथा खिलजी शासकों के बाद तुगलक वंश (1320-1412 ई.) का शासन था।
15. दिल्ली के खिलजी सुल्तान थे?
(अ) मंगोल (ब) अफगान
(स) तुर्क (द) एक जाट कबीला
S.S.C.k~ Section off~. परीक्षा, 2007
उत्तर-(स)
खिलजी मूलतः तुर्क थे, परंतु अफगानिस्तान में दीर्घकाल तक रहने के कारण उन्होंने उस देश की आदतों और रीति-रिवाजों को अपना लिया था। उनमें से कुछ मुहम्मद गोरी और महमूद गजनवी के सैनिकों के रूप में भारत आए। मध्य एशिया और अफगानिस्तान में मंगोलों की उथल-पुथल के फलस्वरूप इस जाति के अनेक लोग शरणार्थी के रूप में भारत आए। जातीय दृष्टि से खिलजी तुर्क थे।