बिक्री कर उदाहरण है ? बिक्री कर हमेशा वस्तु के खाली स्थान पर लगता है sales tax examples in hindi

By   June 26, 2021

sales tax examples in hindi बिक्री कर उदाहरण है ? बिक्री कर हमेशा वस्तु के खाली स्थान पर लगता है  ?

23. बिक्री कर उदाहरण है –
(अ) निगमित कर का (ब) प्रत्यक्ष कर का
(स) अप्रत्यक्ष कर का (द) कल्याण कर का
S.S.C. E.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
24. निम्नलिखित में से कौन-सा कर केवल राज्य सरकार द्वारा लगाया जाता है?
(अ) मनोरंजन कर (ब) संपत्ति कर
(स) आय कर (द) निगम कर
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
मनोरंजन कर राज्य सरकार द्वारा लगाया जाता है। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार द्वारा लगाए जाने वाले अन्य कर भू-राजस्व कर, स्टाम्प शुल्क, पथ कर, मोटरवाहन कर, राज्य उत्पादन शुल्क तथा व्यावसायिक कर इत्यादि हैं।
25. वैयक्तिक प्रयोज्य आय होती है-
(अ) सदा वैयक्तिक आय के बराबर
(ब) सदा वैयक्तिक आय से अधिक
(स) वैयक्तिक आय और अप्रत्यक्ष करों के अंतर के बराबर
(द) वैयक्तिक आय और प्रत्यक्ष करों के अंतर के बराबर
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
प्रयोज्य आय से अभिप्राय उस वैयक्तिक आय से है जो व्यक्तियों / परिवारों द्वारा उपभोग पर व्यय की जा सकती है। वैयक्तिक आय पूरे तौर पर उपभोग पर खर्च नहीं की जा सकती क्योंकि वह आय कर देने से पहले की होती है। इसलिए प्रयोज्य आय को जानने के लिए वैयक्तिक आय में से प्रत्यक्ष कर घटा दिए जाते हैं, अतः Disposable Income = Personal Income-Direct Taxes.
26. भारत की राजकोषीय नीति में निम्नलिखित में से कौन-साउद्देश्य शामिल नहीं है ?
(अ) पूर्ण रोजगार
(ब) कीमत स्थिरता
(स) संपत्ति और आय का न्यायोचित वितरण
(द) अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का विनियमन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
भारत की राजकोषीय नीति में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का विनियमन शामिल नहीं जबकि पूर्ण रोजगार, कीमत स्थिरता तथा संपत्ति और आय का न्यायोचित वितरण राजकाषीय नीति में शामिल है।
27. सरकार के व्यय, कराधान और उधार लेने संबंधित नीति क्या कहलाती है?
(अ) राजकोषीय नीति (ब) मौद्रिक नीति
(स) बैंक नीति (द) कर नीति
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
सरकार के व्यय, कराधान और उधार लेने से संबंधित क्रियाओं तथा हीनार्थ प्रबंधन से संबंधित नीतियों को ही राजकोषीय नीति कहते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य आर्थिक स्थिरता तथा आर्थिक विकास संबंधी कार्यक्रमों की सफलता में सहायक होने से संबंधित है।
28. राजकोषीय नीति का संबंध है-
(अ) अर्थव्यवस्था में मुद्रा पूर्ति से
(ब) बैंकिंग व्यवस्था के विनियमन से
(स) आर्थिक विकास के लिए नियोजन से
(द) सरकार की आय तथा व्यय से
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
राजकोषीय नीति का संबंध सरकार की आय तथा व्यय से है। राजकोषीय घाटा कुल राजस्व प्राप्तियों, अनुदानों और गैर-ऋण पूंजीगत प्राप्तियों के ऊपर सरकार के कुल व्यय राजस्व तथा पूंजीगत व्यय जिसके अंतर्गत उधारों में दिए गए शुद्ध ऋणों की राशि भी सम्मिलित है, का अतिरेक है।
29. कराधान एक उपकरण है-
(अ) मौद्रिक नीति का (ब) राजकोषीय नीति का
(स) कीमत नीति का (द) मजदूरी नीति का
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
कराधान (Taxation) राजकोषीय नीति के तहत ही प्रयोग में लाया जाता है। अर्थशास्त्र में राजकोषीय नीति अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने के लिए सरकारी व्यय और संग्रहित राजस्व का उपयोग है।
30. राष्ट्रीय आय निकालने के लिए एन एन पी में से निम्नलिखित में से किसे घटाया जाता है?
(अ) अप्रत्यक्ष कर (ब) पूंजी उपभोग छूट
(स) इमदाद (द) ब्याज
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
राष्ट्रीय आय = NNP at Factor Cost = (NNP)np – निवल अप्रत्यक्ष कर ़ इमदाद (Subsidies)
31. किसी देश की राष्ट्रीय आय का निर्धारण करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी पद्धति प्रयोग में नहीं लाई जाती?
(अ) आय पद्धति (ब) उत्पादन पद्धति
(स) आगत पद्धति (द) निवेश पद्धति
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (ज्पमत-प्) परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
सकल राष्ट्रीय उत्पाद (GNP) को तीन विभिन्न दृष्टिकोणों से समझा और मापा जाता है
1. उत्पादन अथवा मूल्य वृद्धि दृष्टिकोण (Production or Value Aded Approach),
2. व्यय दृष्टिकोण (Expenditure Approach),
3. आय दृष्टिकोण (Income Approach)
32. निम्नलिखित में से कौन-सा निजी कॉर्पोरेट क्षेत्र की बचत को दर्शाता है?
(अ) अवितरित लाभ
(ब) व्यय से अधिक आय
(स) शेयरधारकों को लाभांश का भुगतान
(द) कंपनी के कुल लाभ
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(अ)
अवितरित लाभ (Undistributed Profit) निजी कॉर्पोरेट क्षेत्र की बचत है। यह निजी या सरकारी स्वामित्व के फर्मों द्वारा अर्जित लाभ है, जिसका वितरण उत्पादन के कारकों के बीच नहीं होता।
33. आय विधि से राष्ट्रीय आय का आकलन करते समय निम्न में से किसको शामिल नहीं किया जाता?
(अ) किराया (ब) मिश्रित आय
(स) पेंशन (द) अवितरित लाभ
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
आय विधि से राष्ट्रीय आय का आकलन करते समय किराया, मिश्रित आय तथा अवितरित लाभ को शामिल किया जाता है जबकि पेंशन को इसमें शामिल नहीं किया जाता है क्योंकि यह हस्तांतरण आय (Transferaible Income) है।
34. प्रति व्यक्ति आय =
(अ) निवल राष्ट्रीय उत्पाद / कुल जनसंख्या
(ब) कुल जनसंख्या / राष्ट्रीय आय
(स) सकल राष्ट्रीय उत्पाद / कुल जनसंख्या
(द) राष्ट्रीय आय / कुल जनसंख्या
S.S.C.CPO परीक्षा, 2012
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
प्रति व्यक्ति आय = राष्ट्रीय आय/कुल जनसंख्या
= निवल राष्ट्रीय उत्पाद (कारक लागत पर)/कुल जनसंख्या
35. प्रति व्यक्ति आय बराबर होती है-
(अ) राष्ट्रीय आय के/देश की कुल जनसंख्या
(ब) राष्ट्रीय आय + जनसंख्या के
(स) राष्ट्रीय आय – जनसंख्या के
(द) राष्ट्रीय आय × जनसंख्या के
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
36. देश की आर्थिक प्रगति का निर्धारण किसके आधार पर किया जाता है?
(अ) देश की प्रतिव्यक्ति आय में वृद्धि
(ब) वर्ष के दौरान उत्पादित पूंजीगत माल की कीमत में वृद्धि
(स) ट्रेड यूनियनों की संख्या में वृद्धि
(द) देश के सामान्य कीमत स्तर में गिरावट
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(अ)
देश की आर्थिक प्रगति का निर्धारण देश की प्रतिव्यक्ति आय में वृद्धि के आधार पर किया जाता है।
37. विदेशों में काम कर रहे भारतीयों की आय है:
(अ) भारत की घरेलू आय का अंश
(ब) विदेशों से अर्जित आय का अंश
(स) भारत के निवल देशीय उत्पाद का अंश
(द) भारत के सकल घरेलू उत्पाद का अंश
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
राष्ट्रीय उत्पाद = देशीय उत्पाद + विदेशों से प्राप्त कारक आय
विदेशों की दी गई कारक आय
विदेशों से प्राप्त कारक आय और विदेशों को दी गई कारक आय के अंतर को ‘विदेशों से निवल कारक आय‘ कहते हैं।
अतः राष्ट्रीय उत्पाद = देशीय उत्पाद + विदेशों से निवल कारक आय।
उल्लेखनीय है कि NFIA, NDP और NNP के बीच लिंक प्रदान करता है।
अतः NfDPc ़ NFIA = NNfPc अथवा
NNfPc – NFIA = NfDPc
इसी प्रकार, NDPmp ़ NFIA = NNPmp
GDPmp ़ NFIA = GNPmp
38. किसी व्यक्ति के वास्तविक जीवन स्तर का आकलन किया जा सकता है-
(अ) सकल राष्ट्रीय आय द्वारा (ब) निवल राष्ट्रीय आय द्वारा
(स) प्रतिव्यक्ति आय द्वारा (द) प्रयोज्य निजी आय द्वारा
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
किसी देश या क्षेत्र की कुल आर्थिक गतिविधियों के आकलन के लिए, अर्थशास्त्र में राष्ट्रीय आय और उत्पादन के विभिन्न मापक तरीके प्रयुक्त होते हैं, जिसमें सकल घरेलू उत्पाद (GDP), सकल राष्ट्रीय उत्पाद (GNP) और निवल राष्ट्रीय आय (NNI) शामिल होते हैं जबकि जीवन स्तर का आकलन वास्तविक जीडीपी पर कैपिटा के द्वारा होता है। जहां, वास्तविक जीडीपी पर कैपिटा = देश की जीडीपी/कुल जनसंख्या। अतः स्पष्ट है कि अभीष्ट उत्तर विकल्प (स) है।
39. आर्थिक वृद्धि किससे संबंधित है?
(अ) कृषि क्षेत्र की निरंतर वृद्धि
(ब) धन (संपत्ति) के संकेंद्रण की रोकथाम
(स) कम से कम दो वर्षों तक राष्ट्रीय आय की निरंतर वृद्धि
(द) किसी अर्थव्यवस्था में कुछ अवधि तक प्रति व्यक्ति वास्तविक आय
की निरंतर वृद्धि
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
किसी समयावधि में किसी अर्थव्यवस्था में होने वाली वास्तविक आय की वृद्धि ‘आर्थिक वृद्धि‘ कहलाती है। आर्थिक वृद्धि अर्थव्यवस्था में परिमाणात्मक परिवर्तन से संबंधित होती है, जिससे राष्ट्रीय उत्पाद के आकार में परिवर्तन होता है-
40. आय और उपभोग में किस प्रकार का संबंध है?
(अ) प्रतिलोम संबंध (ब) प्रत्यक्ष संबंध
(स) आंशिक संबंध (द) कोई संबंध नहीं है
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
आय के बढ़ने पर उपभोग व्यय बढ़ता है परंतु उपभोग में होने वाली वृद्धि आय में होने वाली वृद्धि से कम होती है।
41. जब आय बढ़ती है तो खपत भी किस अनुपात में बढ़ जाती है?
(अ) समान अनुपात में (ब) कम अनुपात में
(स) अधिक अनुपात में (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
42. सामूहिक खपत से तात्पर्य है-
(अ) घरेलू खपत (ब) वैयक्तिक खपत
(स) स्व-खपत (द) देश के नागरिक द्वारा की गई खपत
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
‘सामूहिक खपत‘ से तात्पर्य ऐसी खपत से है जो बड़े पैमाने पर उत्पादित एवं उपभोग की जाती है अर्थात् ऐसी वस्तुएं जिनका उत्पादन एवं उपभोग लोग बड़े पैमाने पर एक साथ करें, ‘सामूहिक खपत‘ कहलाती है। जैसे-स्कूल, पुस्तकालय, सड़क, पुल, स्वास्थ्य सेवाएं, सार्वजनिक यातायात आदि।
43. राष्ट्रीय आय किससे निर्मित होती है?
(अ) किसी धन-उत्पादक गतिविधि द्वारा
(ब) किसी श्रमशील गतिविधि द्वारा
(स) किसी लाभकारी गतिविधि द्वारा
(द) किसी उत्पादक गतिविधि द्वारा
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
राष्ट्रीय आय किसी उत्पादक गतिविधि द्वारा निर्मित होती है।