पुनर्हिमापन क्या है , परिभाषा , उदाहरण (regelation in hindi)

(regelation in hindi) पुनर्हिमापन क्या है , परिभाषा , उदाहरण : ऐसी प्रक्रिया जो दाब की उपस्थिति में गलन शुरू कर दे और दाब कम करने या हटा लेने पर हिमीकरण या जमना शुरू कर दे , उस प्रक्रिया को पुनर्हिमापन कहते है।
उदाहरण : जब किसी बर्फ पर दाब लगाया जाता है तो यह पिघलना शुरू हो जाती है और जब इस दाब को हटा लिया जाता है तो बर्फ पुन: जमना शुरू हो जाती है।
ले चेटेलियर के अनुसार यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें उच्च दाब की उपस्थिति में किसी अधिक आयतन वाले पदार्थ को कम आयतन वाले पदार्थ में परिवर्तित किया जाता है।
जैसा की हम सब जानते है कि बर्फ का आयतन , जल की तुलना में अधिक होता है , यही कारण है कि जब बर्फ के ऊपर बहुत अधिक दाब आरोपित किया जाता है तो यह बर्फ से पानी में बदलना शुरू हो जाता है।
और जब इस दाब को हटा लिया जाता है तो चूँकि ताप का मान हिमांक बिंदु से कम तो हिमीकरण या पानी जमना शुरू हो जाता है।
इसका सबसे उदाहरण निम्न प्रकार भी समझा जा सकता है –

जब चित्रानुसार एक बर्फ के ब्लॉक पर दोनों तरफ भार एक तार के माध्यम से लटकाते है , हमारा उद्देश्य तार को बर्फ के दूसरी तरफ इसे चीरते हुए निकालना है इसलिए हम भार का मान अधिक रखते है ताकि ऐसे हो सके , जब तार बर्फ के दूसरी तरफ निकल जाता है तो भी हम देखते है कि बर्फ का ब्लॉक अभी भी ठोस अवस्था में ही है और इसका कारण पुनर्हिमापन ही है , जैसे जैसे बर्फ को काटता हुआ तार गुजरता है तो बर्फ के उस भाग से दाब या भार हट जाता है और पुनर्हिमापन की प्रकिया से यह पुन: जमना शुरू हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *