औद्योगिक उत्पाद में सूक्ष्मजीव महत्व Importance of Microbial in Industrial Products

Importance of Microbial in Industrial Products औद्योगिक उत्पाद:-

सूक्ष्मजीवों द्वारा औद्योगिक उत्पाद प्राप्त करने के लिए बडे पात्रों में किण्डवन क्रिया कर जाती है जिन्हें किण्वन कहते है।

A – किण्वत पेय:- ब्रीवर्स यीस्ट द्वारा किव्वन

आसवन रहित:- वाइन वीयर

आसवन युक्त किण्वन:- विहस्की, रम, ब्रान्डी

B –  प्रतिजैविक टंटीबायोटिक:- सूक्ष्मजीवों द्वारा प्राप्त पदार्थ जो अन्य सूक्ष्मजीवों की वृद्धि को मंद या बंद कर देता उन्हें प्रतिजैविक कहते है।

 सर्वप्रथम खोजा गया:- पेनिसिलिन

 खोजकर्ता:- एलेक्जण्डर फ्लैमिग

 सूक्ष्मजीव का नाम:- पेनिसिलियम नाॅटेटम कवक

 रोचक तथ्य:- फ्लैमिग स्टेफाइलोकोकस जीवाणु

कार्य कर रहा था। एक दिन उसने देखा कि बिना धुली हुई प्लेट पर मोल्ड (कवक) की उपस्थिति के काण जीवाणुओं की वृद्धि रूक गई

अनैस्ट चैन व हावर्ड फ्लौरे ने इसे एक शक्तिशाली प्रतिजैविक के रूप में व्यक्त किया तथा इन्हें फ्लैमिक के साथ 1945 का नोबल पुरूस्कार प्रदान किया।

C   एथेनाल:- सैकेरोमाइीज सैरीविसी (यीस्ट) द्वारा

D   एन्जाइम:-

1.  लाइवेज:- अपमार्जक संरक्षण व कपड़ों पर तेल के दाग-धब्बे हटाने मंे।

2.  पेक्टिेनेजिन व प्रोटियोजिस:- बोतल बंद फलो के रस को स्वच्छ/साफ बनाने  में।

3  स्ट्रेप्टोकोइनेस:- (स्ट्रप्टोकोकस द्वारा) (जीवाणु) थक्का स्फोटन में )रूधिर  वाहिनी में)

म्ण् कार्बनिक अम्ल:-

क्र.सं. नाम अम्ल सूक्ष्मजीव का प्रकार सूक्ष्मजीव का नाम

1 एैसिटिक अम्ल जीवाणु ऐस्टिेटोक्टर एसिटी

2 ब्यूटिक अम्ल जीवाणु ब्लोस्ट्रिडियम ब्यूटालिकम

3 साइट्रिक अम्ल कवक ऐस्परजिल्स नाइगर

4 लैक्टिक अमल जीवाणु लेकटोबेसिलर्स लैकटाई

थ्ण् जैव सक्रिय अणु:-

साइक्लोस्पोरिन  ट्राइकोडर्मा पाॅलीस्पोरम (कवक) प्रतिरक्षी संदमक (निरोधक)

स्टैनिन मोनोस्कम परायूरिअम (यीस्ट) रक्त कालेस्ट्राॅल कम करने में

(एन्जाइम निरोधक)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *