औद्योगिक उत्पाद में सूक्ष्मजीव महत्व Importance of Microbial in Industrial Products

Importance of Microbial in Industrial Products औद्योगिक उत्पाद:-

सूक्ष्मजीवों द्वारा औद्योगिक उत्पाद प्राप्त करने के लिए बडे पात्रों में किण्डवन क्रिया कर जाती है जिन्हें किण्वन कहते है।

A – किण्वत पेय:- ब्रीवर्स यीस्ट द्वारा किव्वन

आसवन रहित:- वाइन वीयर

आसवन युक्त किण्वन:- विहस्की, रम, ब्रान्डी

B –  प्रतिजैविक टंटीबायोटिक:- सूक्ष्मजीवों द्वारा प्राप्त पदार्थ जो अन्य सूक्ष्मजीवों की वृद्धि को मंद या बंद कर देता उन्हें प्रतिजैविक कहते है।

 सर्वप्रथम खोजा गया:- पेनिसिलिन

 खोजकर्ता:- एलेक्जण्डर फ्लैमिग

 सूक्ष्मजीव का नाम:- पेनिसिलियम नाॅटेटम कवक

 रोचक तथ्य:- फ्लैमिग स्टेफाइलोकोकस जीवाणु

कार्य कर रहा था। एक दिन उसने देखा कि बिना धुली हुई प्लेट पर मोल्ड (कवक) की उपस्थिति के काण जीवाणुओं की वृद्धि रूक गई

अनैस्ट चैन व हावर्ड फ्लौरे ने इसे एक शक्तिशाली प्रतिजैविक के रूप में व्यक्त किया तथा इन्हें फ्लैमिक के साथ 1945 का नोबल पुरूस्कार प्रदान किया।

C   एथेनाल:- सैकेरोमाइीज सैरीविसी (यीस्ट) द्वारा

D   एन्जाइम:-

1.  लाइवेज:- अपमार्जक संरक्षण व कपड़ों पर तेल के दाग-धब्बे हटाने मंे।

2.  पेक्टिेनेजिन व प्रोटियोजिस:- बोतल बंद फलो के रस को स्वच्छ/साफ बनाने  में।

3  स्ट्रेप्टोकोइनेस:- (स्ट्रप्टोकोकस द्वारा) (जीवाणु) थक्का स्फोटन में )रूधिर  वाहिनी में)

म्ण् कार्बनिक अम्ल:-

क्र.सं. नाम अम्ल सूक्ष्मजीव का प्रकार सूक्ष्मजीव का नाम

1 एैसिटिक अम्ल जीवाणु ऐस्टिेटोक्टर एसिटी

2 ब्यूटिक अम्ल जीवाणु ब्लोस्ट्रिडियम ब्यूटालिकम

3 साइट्रिक अम्ल कवक ऐस्परजिल्स नाइगर

4 लैक्टिक अमल जीवाणु लेकटोबेसिलर्स लैकटाई

थ्ण् जैव सक्रिय अणु:-

साइक्लोस्पोरिन  ट्राइकोडर्मा पाॅलीस्पोरम (कवक) प्रतिरक्षी संदमक (निरोधक)

स्टैनिन मोनोस्कम परायूरिअम (यीस्ट) रक्त कालेस्ट्राॅल कम करने में

(एन्जाइम निरोधक)

One thought on “औद्योगिक उत्पाद में सूक्ष्मजीव महत्व Importance of Microbial in Industrial Products

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!