निषेचन कहाँ होता है ? मादा में निषेचन क्रिया किस अंग में होती है ? fertilization takes place in which part in hindi

By  

fertilization takes place in which part in hindi निषेचन कहाँ होता है ? मादा में निषेचन क्रिया किस अंग में होती है ?

प्रश्न : सामान्यतः निषेचन होता है-
(अ) डिम्बवाहिनी नली में (ब) गर्भाशय में
(स) ग्रीवा में (द) आच्छद (योनि) में
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
नर जनन कोशिका के शुक्राणु का मादा जनन कोशिका के अंडाणु से मिलन निषेचन कहलाता है। निषेचन क्रिया डिम्बवाहिनी नली में संपन्न होती है।

आनुवांशिकी
ऑनलाइन परीक्षा-प्रश्न (2016)
 आनुवंशिक रूप से समान व्यक्तियों के बीच प्रत्यारोपण को क्या कहते हैं? – आइसोग्राफ्ट
 विलगित प्रोटीन की पहचान हेतु शोषक तकनीक क्या है?
– पश्चिमी शोषक
 गुणसूत्रों की आकृति विज्ञान का अच्छी तरह से अध्ययन किससे किया जा सकता है?
– मध्यावस्था में
 जैव पुष्टीकरण तकनीक में पादप प्रजनक किसे दूर करने के लिए प्रजनन तकनीक का प्रयोग करते हैं?
– सूक्ष्म पोषकों और विटामिनों की कमी
 विरोधी गुणों का युग्म, जो समान विशेषताओं को नियंत्रित करे, क्या कहलाता है? -युग्मविकल्पी (एलील)
ऑफलाइन परीक्षा प्रश्न (2006-2015)
1. ‘आनुवांशिकता‘ (जेनेटिक्स) शब्द किसने गढ़ा था?
(अ) मॉर्गन (ब) मेंडल
(स) बेटसन (द) जोहानसेन
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
आनुवांशिक लक्षणों के पीढ़ी-दर-पीढ़ी संचरण की विधियों और कारणों के अध्ययन को ‘आनुवांशिकी‘ (Genetics) कहते हैं। आनुवांशिकता के बारे में सर्वप्रथम जानकारी वर्ष 1866 में ग्रेगर जॉन मेंडल ने दी। इसी कारण उन्हें ‘आनुवांशिकता का पिता‘ (Father of Genetics) कहा जाता है। डब्ल्यू. बेटसन (William Bateson) ने वर्ष 1905 में सर्वप्रथम जेनेटिक्स (Genetics) अथवा आनुवांशिकी शब्द का उपयोग किया था।
2. आनुवांशिकता के नियम प्रस्तुत किए थे-
(अ) मेंडल ने (ब) मेन्डेलीव ने
(स) पावलोव ने (द) कोच ने
S.S.C.Section off. परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
3. युग्मन और प्रतिकर्षण किसकी दो अवस्थाएं हैं?
(अ) व्यत्यासिका (काइऐज्मा) (ब) उत्परिवर्तन
(स) विनिमय (द) सहलग्नता
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
युग्मन और प्रतिकर्षण सहलग्नता की दो अवस्थाएं हैं। सहलग्नता मेंडल के नियम का अपवाद है। जब दो भिन्न लक्षण एक ही गुणसूत्र पर बंधे होते हैं तो उनकी वंशागति स्वतंत्र न होकर एक ही साथ होती है। इस घटना को मॉर्गन ने ‘सहलग्नता‘ कहा।
4. जब एक जीन युग्म अन्य इकाई के प्रभाव को छिपाता है तो – वह घटना यह कहलाती है-
(अ) दिए गए विकल्पों में से कोई नहीं (ब) एपीस्टेसिस
(स) उत्परिवर्तन (द) प्रभाविता
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
जब एक जीन युग्म अन्य इकाई के प्रभाव को छिपाता है तो यह घटना एपीस्टेसिस (Epistasis) कहलाता है।
5. ‘सहलग्नता‘ की खोज किसने की थी?
(अ) ब्लैकस्ली (ब) मॉर्गन
(स) म्यूलर (द) बेटसन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
सहलग्नता की खोज सर्वप्रथम ब्रिटिश वैज्ञानिक विलियम बेटसन तथा रेगिनाल्ड क्रुन्डल पुन्नेट ने की थी।
6. यूफेनिक्स है-
(अ) आनुवांशिक इंजीनियरी द्वारा सदोष आनुवांशिकता का उपचार
(ब) जीनों का हेरफेर
(स) प्रजाति का सुधार
(द) जीवों को प्रभावित करने वाली स्थितियों का अध्ययन
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
यूफेनिक्स आनुवांशिक इंजीनियरी द्वारा सदोष आनुवांशिकता का उपचार है।

8. ‘जीन‘ शब्द किसने बनाया था?
(अ) टी.एच. मॉर्गन (ब) डब्ल्यू. एल. जोहानसेन
(स) जी. मेंडल (द) डी ब्रीज
S.S.C. Tax Asst. परीक्षा, 2007
उत्तर-(ब)
‘जीन‘ जीवित प्राणियों की आनुवांशिक इकाई होती है। ‘जीन‘ शब्द की खोज डेनमार्क के वनस्पति शास्त्री विल्हेम जोहानसेन (Wilhelm Johannsen) ने की थी।
9. ‘जीन‘ शब्द को गढ़ने से संबद्ध व्यक्ति का नाम बताइए?
(अ) मेंडल (ब) वालडेयर
(स) मॉर्गन (द) जोहानसेन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
10. गर्भाशय (वूम्ब) के लिए वैकल्पिक शब्द क्या है?
(अ) यूटेरस (ब) यूरेटर
(स) वेजाइना (द) वल्वा
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(अ)
गर्भाशय (यूटेरस) मजबूत मांसपेशियों से बना एक थैली जैसा अंग होता है जो महिला के पेट में काफी नीचे की ओर स्थित होता है।
11. ‘एम्निओसेटेंसिस‘ (भू्रण परीक्षण) पर कानूनी प्रतिबंध लगाया गया है, क्योंकि-
(अ) इसका प्रयोग भ्रूण के लिंग के चुनाव के लिए किया जाता है
(ब) यह भ्रूण को हानि पहुंचाता है
(स) यह माता के स्वास्थ्य को दुष्प्रभावित करता है
(द) यह AIDS जैसी बीमारी फैलाता है
S.S.C.  मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
एम्निओसेटेंसिस (भ्रूण-परीक्षण) पर कानूनी प्रतिबंध लगाया गया है क्योंकि इसका प्रयोग गर्भ में भ्रूण के लिंग परीक्षण के लिए किया जाता है।
12. भ्रूण के पोषण में कौन-सी संरचना सहायक होती है?
(अ) पीतक झिल्ली (ब) उल्व झिल्ली
(स) गुप्त कोष (द) प्लेसेंटा
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
भ्रूण के पोषण में प्लेसेंटा संरचना सहायक होती है।
13. जीवाणु कोशिका में सूत्रकणिका की संख्या है-
(अ) एक (ब) दो
(स) अनेक (द) शून्य
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द) .
जीवाणु कोशिका में सूत्रकणिकाओं की संख्या शून्य होती है। क्योंकि बैक्टीरिया प्रोकैरियोटिक जीव है।
14. जीवाण्विक कोशिकाओं में नहीं होता-
(अ) कोशिका भित्ति (ब) जीवद्रवीय कला
(स) राइबोसोम (द) सूत्रकणिका
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
15. एलोसोम होते हैं-
(अ) कोशिकांग (ब) पादप हॉर्मोन
(स) ऐलील (द) लिंग गुणसूत्र
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
एलोसोम लिंग गुणसूत्र होते हैं। मनुष्य में 23 जोड़ी (46) गुणसूत्र होते हैं। 22 जोड़ी गुणसूत्र स्त्रियों और पुरुषों में समान और अपने अपने समजात होते हैं। इन्हें समजात गुणसूत्र या ऑटोसोम कहते हैं। 23 वीं जोड़ी के गुणसूत्र स्त्रियों और पुरुषों में भिन्नद्य भिन्न होते हैं जिसे विषमजात गुणसूत्र या एलोसोम (Allosomes) कहते हैं। लिंग निर्धारण में इसकी अहम भूमिका होती है। स्त्रियों में (XX) तथा पुरुषों में (XY) एलोसोम पाए जाते हैं।
16. एक सामान्य मानव शरीर कोशिका में गुणसूत्रों की संख्या कितनी होती है?
(अ) 43 (ब) 44
(स) 45 (द) 46
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2011
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
17. शिशु लिंग किसके गुणसूत्री योगदान पर निर्भर करता है-
(अ) पिता (ब) माता
(स) पिता-माता दोनो (द) दादी
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
शिशु के लिंग का निर्धारण पिता के गुणसूत्री योगदान पर निर्भर करता है, पिता में ग्ल् गुणसूत्र और माता में समजात गुणसूत्र XX पाए जाते हैं। जब युग्मनज माता के X तथा पिता के X से मिलकर XX बनता है, तो संतान लड़की और जब युग्मनज माता के X तथा पिता के Y से मिलकर XY बनता है, तो संतान लड़का पैदा होता है।
18. पुरुष में पुरुषत्व के लिए कौन-सा गुणसूत्री संयोजन उत्तरदायी है?

(अ) XO (ब) XXX
(स) XX (द) XY
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
19. टर्नर संलक्षण वाले क्रोमोसोम का विवरण क्या है?
(अ) 44A + XO (ब) 44A + XXY
(स) 44A + XXX (द) 44A + XYY
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
टर्नर सिन्ड्रोम में लिंग गुणसुत्रों में से केवल एक X गुणसूत्र उपस्थिति होता है। अतः ये लिंग गुणसूत्रों के लिए मोनोसोमिक होती हैं। इनमें क्रोमोसोम का विवरण 44A + XO है।
20. ‘बारी पिंड‘ किसमें पाया जाता है?
(अ) शुक्राणु (ब) सर्टोली कोशिका
(स) मादा कायिक कोशिका (द) नर कायिक कोशिका
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier – I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
‘बारी पिंड‘ एक निष्क्रिय X – गुणसूत्र है जो मादा कायिक कोशिका में पाया जाता है।
21. डाउन सिन्ड्रोम वाले व्यक्ति अपरिहार्य रूप से किससे ग्रस हो जाते हैं?

(अ) हंटिंग्टन रोग (ब) मस्तिष्काघात
(स) तानिका शोध (द) अल्जाइमर रोग
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द) .
डाउन सिन्ड्रोम को मंगोली जड़ता (Mongoloididiocy) भी कहते हैं। ऐसे व्यक्ति अपरिहार्य रूप से अल्जाइमर रोग से ग्रस्त हो जाते हैं।
22. विनिमय किसके दौरान होता है?
(अ) तनुपट्ट (ब) युग्मपट्ट
(स) स्थूलपट्ट (द) द्विपट्ट
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
मानव शरीर रचना विज्ञान से निकला शब्द विनिमय (Crossingover) अर्धसूत्रण (Meiosis) के पैकिटीन या स्थूलपट्ट (Pachytene) चरण के दौरान होता है। इस अवस्था या चरण में समजात क्रोमोसोम एक-दूसरे पर लिपटकर छोटे हो जाते हैं।
23. डी.एन.ए. परीक्षण विकसित किया गया था-
(अ) डॉ. ऐलेक जेफ्रीस द्वारा
(ब) डॉ. वी.के.कश्यप द्वारा
(स) वॉट्सन और क्रिक द्वारा
(द) ग्रेगर मेंडल द्वारा
S.S.C.Tax Asst परीक्षा, 2008
उत्तर-(अ)
ब्रिटिश वैज्ञानिक प्रोफेसर सर एलेक जेफ्रीस द्वारा डी.एन.ए. फिंगर प्रिंटिग और डी.एन.ए. परीक्षण की तकनीक विकसित की गई। फोरेंसिक साइंस में इसका उपयोग पुलिस द्वारा जासूसी कार्य तथा अपराधियों की पहचान करने में किया जाता है।
24. डी.एन.ए. संरचना का सही मॉडल किसने बनाया था?
(अ) जैकब और मोनोड (ब) वॉट्सन और क्रिक
(स) एच.जी. खुराना (द) बाल्टिमोर और टेमिन
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
डी.एन.ए. संरचना का सही मॉडल वॉट्सन और क्रिक नें वर्ष 1953 मे प्रतिपादित किया था। डी.एन.ए. दो परस्पर जुड़ी सर्पिल कुंडलिनी पॉलिन्यूक्लियोटाइड शृंखलाएं या सूत्र एक ही केंद्रीय अक्ष के चारों ओर दक्षिणावर्त स्प्रिंग की भांति ऐंठकर द्विकुंडलिनी संरचना होती है। द्विकुंडलिनी का प्रत्येक कुंडल 3.4।° लंबाई में फैला होता है। इस काम के लिए इन्हें वर्ष 1962 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।