Category Archives: rajasthan

मरू कोकिला किसे कहते हैं | राजस्थान की किसे मरुभूमि की कोकिला कहा जाता है maru kokila of rajasthan in hindi

maru kokila of rajasthan in hindi मरू कोकिला किसे कहते हैं | राजस्थान की किसे मरुभूमि की कोकिला कहा जाता है ? प्रश्न: मांड गायिका गवरी देवी उत्तर: ‘मरु कोकिला‘ के नाम से विश्व प्रसिद्ध मांड गायिका स्व. श्रीमती गवरी देवी का जन्म 14 अप्रैल, 1920 को बीकानेर के दरबारी गायक परिवार में हुआ। ठुमरी,… Continue reading »

रणथंभौर का किला किसने बनवाया | रणथंभौर का किला कहां स्थित है जिले का नाम ranthambore fort built by in hindi

ranthambore fort built by in hindi रणथंभौर का किला किसने बनवाया | रणथंभौर का किला कहां स्थित है जिले का नाम made by whom ? उत्तर : रणथम्भौर का किला रणथम्भौर (सवाई माधोपुर) चैहान शासकों द्वारा (आठवीं शताब्दी में) (रणथानदेव/रंतिनदेव) 1301 ई. में बनाया गया था | यह किला प्रथम साका, राणा हम्मीर की आन-बान-शान… Continue reading »

वीर तेजाजी का जन्म कब हुआ था | लोक देवता वीर तेजाजी का जन्म कहाँ हुआ veer tejaji in hindi

veer tejaji in hindi वीर तेजाजी का जन्म कब हुआ था | लोक देवता वीर तेजाजी का जन्म कहाँ हुआ ? प्रश्न: वीर तेजाजी उत्तर: 11वीं सदी के नागौर में जन्में (खरनाल) के तेजाजी जाट ने गौरक्षार्थ अपने प्राण न्यौछावर कर राजस्थान के लोकदेव मण्डल में अपना स्थान बनाया। ये गायों के मुक्तिदाता व सपों… Continue reading »

निरंजनी संप्रदाय के संस्थापक कौन थे | निरंजनी संप्रदाय के प्रवर्तक कौन हैं niranjani sect established in hindi

niranjani sect established in hindi निरंजनी संप्रदाय के संस्थापक कौन थे | निरंजनी संप्रदाय के प्रवर्तक कौन हैं ? प्रश्न: निरंजनी सम्प्रदाय  उत्तर: डीडवाना के संत हरिदास जी ने 15वीं सदी में शैव सम्प्रदाय की निर्गुण भक्ति की शाखा निरंजनी सम्प्रदाय की पीठ मारवाड में स्थापित की। हरिदास जी ने अपनी वाणी में अनाशक्ति, वैराग्य,… Continue reading »

विश्नोई सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे ? bishnoi community established in hindi founder name 

bishnoi community founder name विश्नोई सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे ? bishnoi community established in hindi founder name ? प्रश्न: विश्नोई सम्प्रदाय उत्तर: संत जाम्भोजी [Shree Guru Jambeshwar (1451-1536)] द्वारा 15वीं सदी में निर्गुण भक्ति सम्प्रदाय की 29 (20़9) नियमों पर आधारित एक शाखा मुकाम तालवा (बीकानेर) में स्थापित की। इसके अनुयायी विश्नोई कहलाये जो अधिकांश… Continue reading »

नाथ पंथ के संस्थापक कौन है | नाथ पंथ नामक सम्प्रदाय के प्रवर्तक कौन थे originator of nath panth in hindi

originator of nath panth in hindi or founder of nath panth नाथ पंथ के संस्थापक कौन है | नाथ पंथ नामक सम्प्रदाय के प्रवर्तक कौन थे ? प्रश्न: नाथपंथ उत्तर: जोधपुर के मत्स्येन्द्रनाथ द्वारा प्रचारित पाशुपत सम्प्रदाय की एक शाखा जिसमें हठयोग, तंत्रवाद, कुण्डली क्रिया प्रमुख है। भर्तहरि, गोपीचन्द आदि इसके प्रमुख योगी हुए जिन्होंने… Continue reading »

बीसलदेव रासो के रचनाकार कौन है | बीसलदेव रासो के लेखक bisal raso in hindi की नायिका का क्या नाम है

bisal raso in hindi बीसलदेव रासो के रचनाकार कौन है | बीसलदेव रासो के लेखक की नायिका का क्या नाम है मुख्य महिला पात्र कौन थी ? प्रश्न: राजस्थान ‘रासो साहित्य‘ के ग्रंथों का उल्लेख करते हुए एक लेख लिखिए। उत्तर: ‘रास‘ साहित्य के समानान्तर राज्याश्रय में ‘रासो‘ साहित्य लिखा गया जिसके द्वारा तत्कालीन, ऐतिहासिक,… Continue reading »

द मॉडर्न वर्नाक्यूलर लिटरेचर ऑफ हिन्दुस्तान के लेखक कौन थे Modern Vernacular Literature of Northern India in hindi

Modern Vernacular Literature of Northern India in hindi द मॉडर्न वर्नाक्यूलर लिटरेचर ऑफ हिन्दुस्तान के लेखक कौन थे ? प्रश्न: राजस्थान की भाषा एवं बोलियों के विकास में जार्ज अब्राहम ग्रियर्सन के योगदान का वर्णन कीजिए। उत्तर: जार्ज अब्राहम ग्रियर्सन प्रसिद्ध अंग्रेज भारतीय भाषाविद् थे। जो ऐशियाटिक सोसाइटी ऑफ कलकत्ता से सम्बद्ध थे। इन्होंने 1912… Continue reading »

राजस्थानी साहित्य की प्रमुख रचनाएँ | राजस्थानी भाषा एवं साहित्य की प्रमुख कृतियाँ rajasthani literature in hindi

rajasthani literature in hindi राजस्थानी साहित्य की प्रमुख रचनाएँ | राजस्थानी भाषा एवं साहित्य की प्रमुख कृतियाँ ? प्रश्न: राजस्थानी साहित्य में ‘राष्ट्रीय धारा‘ पर एक लेख लिखिए। उत्तर: राजस्थानी साहित्य में प्राचीन काल से ही राष्ट्रीय विचार धारा का प्रभाव स्पष्ट एवं व्यापक रूप से दिखाई देता है। लेकिन ‘राष्टीय धारा‘ की स्पष्ट छाप… Continue reading »

पृथ्वीराज रासो की रचना किसने की | पृथ्वीराज रासो के रचनाकार लेखक कौन थे prithviraj raso in hindi

prithviraj raso in hindi पृथ्वीराज रासो की रचना किसने की | पृथ्वीराज रासो के रचनाकार लेखक कौन थे ? उत्तर : पृथ्वी राज रासों की रचना “चन्द्रबरदाई” ने की थी | प्रश्न: युद्ध विरोधी काव्य – राधा उत्तर: सत्यप्रकाश जोशी अपने मौलिक और गैर पारंपरिक सोच के लिए अलग से उल्लेख योग्य हैं। 1960 में… Continue reading »