Category Archives: chemistry

हाइड्राइड की परिभाषा क्या है , हाइड्राइड के प्रकार , जल किसे कहते है , जल (H2O) के भौतिक गुण

(hydride in hindi) हाइड्राइड : डाई हाइड्रोजन उत्कृष्ट गैस के अतिरिक्त लगभग सभी तत्वों के साथ निश्चित परिस्थितियों में संयोग करके द्विअंगीय यौगिक बनाते है जिन्हें हाइड्राइड कहते है। हाइड्राइडों का वर्गीकरण ये तीन प्रकार के होते है – (i) सहसंयोजी या आण्विक हाइड्राइड : अधिकांश ‘P ब्लॉक’ के तत्वों के साथ H2 परस्पर संयोग करके सहसंयोजी… Continue reading »

हाइड्रोजन (H2) के विभिन्न रूप , ऑर्थो व पैरा रूप में अन्तर , डाई हाइड्रोजन (dihydrogen) बनाने की विधियाँ 

हाइड्रोजन (H2) के विभिन्न रूप : (i) अधिशोषित हाइड्रोजन : कुछ धातुओं की सतह पर पर्याप्त मात्रा में H2 अधिशोषित हो जाती है इसे अधिशोषित या अभिधारण (H2) हाइड्रोजन कहते है। (ii) परमाण्विक हाइड्रोजन : आण्विक हाइड्रोजन के उच्च ताप पर तापीय अपघटन से परमाण्विक हाइड्रोजन प्राप्त होती है। H2 → 2H यह अभिक्रिया ऊष्माशोषी है। (iii)… Continue reading »

हाइड्रोजन (hydrogen in hindi) , आवर्त सारणी में हाइड्रोजन की स्थिति , क्षार धातु से भिन्नता , समस्थानिक

(hydrogen in hindi) हाइड्रोजन : हेनरी केवेन्डिश ने 1766 में धातु पर अम्ल की अभिक्रिया से निकलने वाली गैस का नाम ज्वलनशील गैस रखा। लेवोशिएर ने 1783 में इस गैस का नाम हाइड्रोजन रखा।  हाइड्रोजन एक ग्रीक शब्द है – अर्थात हाइड्रा = जल जन = उत्पन्न करने वाली अर्थात जल उत्पन्न करने वाली गैस। हाइड्रोजन… Continue reading »

विद्युत रासायनिक श्रेणी , विशेषताएँ , मानक इलेक्ट्रोड विभव , सेल आरेख , डेनियल सेल का सेल आरेख

सेल आरेख : Zn / Zn2+ // Cu2+ /Cu या Zn / ZnSO4 // CuSO4 / Cu विद्युत रासायनिक सेल को छोटे रूप में व्यक्त करना सेल आरेख कहलाता है। सेल आरेख बनाने के मुख्य बिंदु निम्न है – 1. सेल आरेख में एनोड को बायीं ओर तथा कैथोड को दाई ओर लिखते है। 2…. Continue reading »

यौगिक का सूत्र ज्ञात करना , आयन इलेक्ट्रॉन विधि , ऑक्सीकरण अंक विधि , संतुलित करने की विधियाँ

यौगिक का सूत्र ज्ञात करना : ऑक्सीकरण अपचयन अभिक्रियाओ को संतुलित करने की विधियाँ :- ऑक्सीकरण अपचयन अभिक्रियाओं को संतुलित करने की निम्न विधियाँ प्रचलित है – 1. आयन इलेक्ट्रॉन विधि 2. ऑक्सीकरण अंक विधि 1. आयन इलेक्ट्रोन विधि आयन इलेक्ट्रॉन विधि द्वारा समीकरण को संतुलित करने के विभिन्न पद निम्न है – सर्वप्रथम अभिक्रिया… Continue reading »

ऑक्सीकरण अंक (oxidation number in hindi) , ऑक्सीकरण अंक निकालने के लिए नियम , अनुप्रयोग 

(oxidation number in hindi) ऑक्सीकरण अंक : किसी भी यौगिक अथवा तत्व के अणु में उपस्थित किसी परमाणु पर उपस्थित आवेश के मान को उस परमाणु का ऑक्सीकरण अंक कहा जाता है , परमाणु पर यह आवेश का मान इलेक्ट्रॉन के स्थानांतरण के कारण उत्पन्न होता है। ऑक्सीकरण अंक निकालने के लिए स्वेच्छ नियम 1. मुक्त… Continue reading »

ऑक्सीकरण और अपचयन अभिक्रिया oxidation and reduction reactions in hindi

(oxidation and reduction reactions in hindi) ऑक्सीकरण – अपचयन अभिक्रियाएँ : प्राचीन अवधारणा : वे अभिक्रियाएँ जिनमें तत्व या यौगिक से ऑक्सीजन का संयोग होता है ऑक्सीकरण कहलाता है। उदाहरण : 2mg + O2 → 2mgOS + O2 → SO2तथा वे अभिक्रियाएँ जिनमें तत्व या यौगिक से ऑक्सीजन का निष्कासन होता है अपचयन कहलाता है।… Continue reading »

Ca तथा mg का जैविक महत्व , Na+ व K+ का महत्व , BeCl2 की संरचना importance of ca and mg

Ca तथा mg का जैविक महत्व : Mg2+ व Ca2+ आयन जैविक क्रियाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। Mg2+  जन्तु कोशिकाओं के अन्दर सांद्रित रहते है जबकि Ca2+ आयन कोशिकाओ के बाहर तरल द्रव सान्द्रित रहते है। Mg2+ आयन अनेक एंजाइम अभिक्रियाओं को उत्प्रेरित करते है , पौधों में पाए जाने वाले हरे रंग के लवण क्लोरोफिल में Mg2+ आयन पाए जाते… Continue reading »

Be का असंगत व्यवहार तथा Al के साथ विकर्ण सम्बन्ध , कैल्शियम ऑक्साइड (CaO) , कैल्शियम कार्बोनेट (CaCO3)

Be का असंगत व्यवहार तथा Al के साथ विकर्ण सम्बन्ध : क्षारीय मृदा धातुओं का प्रथम सदस्य Be अपने वर्ग की अन्य धातुओं से भिन्न गुण प्रदर्शित करता है।  इसके निम्नलिखित कारण है – इसके परमाणु व आयन का आकार अत्यधिक छोटा होता है। इसकी उच्च आयनन एन्थैल्पी होती है। इसके संयोजकता कोश में d… Continue reading »

वर्ग II (2) धातु (क्षारीय मृदा धातु) , क्षारीय मृदा धातुओं के रासायनिक गुण , भौतिक गुण , ऑक्सो अम्लों के लवण 

वर्ग II धातु (क्षारीय मृदा धातु) :दुसरे वर्ग के तत्वों को क्षारीय मृदा धातुएं कहते है तथा इनका बाह्यतम इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns2 होता है। परमाणु क्रमांक प्रतिक नाम इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 4 Be बेरेलियम 2[He] 2s2 12 mg मैग्नीशियम 10[Ne] 3s2 20 Ca कैल्शियम 18[Ar] 4s2 38 Sr स्ट्रांसियस 36[Kr] 5s2 56 Ba बेरियम 54[Xe] 6s2 88 Ra… Continue reading »