भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में कितनी भाषाएं हैं संविधान में 22 भाषाओं नाम 22 languages in indian constitution

By  
सब्सक्राइब करे youtube चैनल

22 languages in indian constitution in hindi भारतीय संविधान में कितनी भाषाओं को मान्यता प्रदान की गई है ? भारतीय संविधान में कितनी भाषाओं को मान्यता प्रदान की गई है भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में कितनी भाषाएं हैं संविधान में 22 भाषाओं नाम  ?

ज्ञान-संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाओं का उल्लेख है-
1. असमिया, 2. गुजराती, 3. कन्नड़, 4. कोंकणी, 5. मणिपुरी, 6. नेपाली, 7. पंजाबी, 8. सिन्धी, 9. तेलुगु, 10. बोडो, 11. संथाली, 12. बंगला, 13. हिन्दी, 14. कश्मीरी, 15. मलयालम, 16. मराठी, 17. उड़िया, 18. संस्कृत, 19. तमिल, 20. उर्दू, 21. मैथिली, 22. डोगरी।

अध्याय 1. हिन्दी भाषा
 हिन्दी भाषा का प्रादुर्भाव कब हुआ? -1000 ई. के आस-पास
 भाषाओं का विकास क्रम किस प्रकार है?
संस्कृत → पाली, प्राकृत → अपभ्रंश→ हिन्दी़
 हिन्दी से ठीक पहले की भाषा कौन सी थी? -अपभ्रंश
 हिन्दी किस लिपि में लिखी जाती है? -देवनागरी लिपि में
ज्ञान-हिन्दी भारत की ‘राजभाषा‘ (सरकारी कामकाज की भाषा) है। संविधान के भाग 17, अध्याय 1 की धारा 343 (प) में हिन्दी को राजभाषा घोषित किया गया है, जिसकी लिपि देवनागरी होगी।़
 हिन्दी भारत के लगभग 70 करोड़ लोग बोलते-समझते हैं। इसलिए यह देश के बहुसंख्यक लोगों की भाषा है और इसी कारण यह भारत की राष्ट्रभाषा कही जाती है।
 हिन्दी दिवस कब मनाया जाता है? -14 सितम्बर
ज्ञान-14 सितम्बर को ‘हिन्दी दिवस‘ मनाया जाता है, क्योंकि संविधान सभा ने 14 सितम्बर, 1949 को हिन्दी भारत की राजभाषा होगी-यह प्रस्ताव पास किया था।
 हिन्दी उत्तर भारत के कितने प्रान्तों की भाषा है? -10
ज्ञान-हिन्दी उत्तर भारत के 10 प्रान्तों की भाषा है। इनके नाम हैंहरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखण्ड। इसे हिन्दी क्षेत्र अथवा हिन्दी प्रदेश भी कहा जाता है।
 हिन्दी के अन्तर्गत पाँच उपभाषाएँ और 18 बोलियाँ हैं। इनके नाम है-
(प) पश्चिमी हिन्दीय उपभाषाकृब्रज, खड़ी बोली, कन्नौजी, बुंदेली, बांगरू।
(पप) पूर्वी हिन्दीय उपभाषा-अवधी, बघेली, छत्तीसगढ़ी।
(पपप) बिहारी हिन्दीय उपभाषादृभोजपुरी, मैथिली, मगही।
(पअ) राजस्थानी हिन्दीय उपभाषा मेवाती, मालवी, मारवाड़ी, जयपुरी।
(अ) पहाड़ी हिन्दीय उपभाषाकृगढ़वाली, कुमायूँनी, नेपाली।
 हिन्दी में प्रकाशित भारत का पहला समाचार-पत्र कौन-सा था?
-उदन्त मार्तण्ड
ज्ञान-‘उदन्त मार्तण्ड‘ हिन्दी का पहला समाचार-पत्र था, जो कलकत्ता से 1826 ई. में पं. जुगल किशोर के सम्पादन में प्रकाशित हुआ था।
 पश्चिमी हिन्दी और उसकी बोलियों का विकास शौरसेनी अपभ्रंश से हुआ, जबकि पूर्वी हिन्दी का विकास अर्द्धमागधी अपभ्रंश से हुआ है।
 पंजाब, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र, आन्ध्र में भी प्रान्तीय भाषाओं के साथ-साथ हिन्दी बोली-समझी जाती है।
 हिन्दी फिल्मों, टेलीविजन कार्यक्रमों, रेडियो एवं टीवी पर प्रसारित होने वाली हिन्दी खेल कमेंटरी ने हिन्दी को लोकप्रिय बनाने में विशेष सहायता की है।
 वर्तमान में हिन्दी अखबारों की संख्या 300 से 350 के आस-पास है। इतनी बड़ी संख्या में पत्र-पत्रिकाएँ किसी दूसरी भाषा में नहीं प्रकाशित की जाती।
 हिन्दी भारत की सम्पर्क भाषा भी है, क्योंकि दो भिन्न प्रान्तीय भाषाएँ बोलने वाले लोग पारस्परिक सम्पर्क के लिए हिन्दी का ही प्रयोग करते हैं।
 कुम्भ मेले में, जहाँ पूरे देश के लोग आते हैं, सम्पर्क के लिए हिन्दी भाषा का ही प्रयोग किया जाता है।
 संविधान की आठवीं अनुसूची में कितनी भाषाओं का उल्लेख है?
-22
हिन्दी किस परिवार के अन्तर्गत आती है? -भारोपीय परिवार
ज्ञान-हिन्दी भारोपीय परिवार के अन्तर्गत आने वाली आर्य भाषा है। आर्य भाषा काल के अन्तर्गत आने वाली भाषाएँ इस प्रकार हैं-
ऽ प्राचीन आर्य भाषा-संस्कृत।
ऽ मध्यकालीन आर्य भाषाएँकृपाली, प्राकृत, अपभ्रंश ।
ऽ आधुनिककालीन आर्य भाषाएँ हैं- 1. हिन्दी, 2. पंजाबी, 3. मराठी, 4. बंगला, 5. सिन्धी, 6. गुजराती, 7. उड़िया, 8. असमिया।
 उत्तर भारत में आर्य भाषाएँ बोली जाती हैं, तो दक्षिण भारत में द्रविड़ परिवार की भाषाएँ बोली जाती हैं, जिनकी संख्या चार है-
1. तेलुगु (आन्ध्र प्रदेश में), 3. तमिल (तमिलनाडु में),
2. कन्नड़ (कर्नाटक में), 4. मलयालम (केरल में)।
 वर्तमान में जो हिन्दी शिक्षा, संचार, प्रशासन आदि में प्रयुक्त हो रही है, उसका मूल आधार खड़ी बोली है, जो पश्चिमी हिन्दी की एक बोली है तथा दिल्ली, मेरठ, बिजनौर, सहारनपुर की बोली है। यह शौरसेनी अपभ्रंश से विकसित हुई है।