Monthly Archives: February 2018

ओरस्टेड का चुंबकीय क्षेत्र प्रयोग तथा निष्कर्ष oersted experiment and conclusion

ओरस्टेड का प्रयोग (oersted experiment) : ओरेस्टेड ने सन 1820 में एक प्रयोग किया , यह प्रयोग उन्होंने चालक तार में धारा प्रवाहित होने पर क्या होता है यह अध्ययन करने के उद्देश्य से किया था। ओरस्टेड ने अपने प्रयोग से यह स्पष्ट सिद्ध किया की ” जब किसी चालक में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती… Continue reading »

अमीटर का अंशशोधन Calibration of ammeter in hindi

Calibration of ammeter in hindi अमीटर का अंशशोधन : जब किसी परिपथ में प्रवाहित धारा का मान अमीटर की सहायता से ज्ञात किया जाता है तो धारा का यह पाठ्यांक गलत हो सकता है इसलिए अमीटर से प्राप्त पाठ्यांक को विभवमापी से प्राप्त धारा के पाठ्यांक से जाँच की जाती है , अमीटर के पाठ्यांक… Continue reading »

वोल्टमीटर का अंशशोधन Calibration of Voltmeter in hindi

Calibration of Voltmeter in hindi वोल्टमीटर का अंशशोधन : जब वोल्टमीटर की सहायता से दो बिन्दुओ के मध्य विभवान्तर का मान ज्ञात किया जाता है तो यह अशुद्ध या गलत प्राप्त होता है। इसके निम्न कारण हो सकते है वोल्टमीटर में उपयोग की गयी स्प्रिंग के स्प्रिंग नियतांक का नियत नहीं रहना या विचलन वोल्टमीटर… Continue reading »

अल्प प्रतिरोध ज्ञात करना measurement of small resistance in hindi

measurement of small resistance in hindi अल्प प्रतिरोध ज्ञात करना : जब किसी परिपथ में कोई अज्ञात अल्प प्रतिरोध जुड़ा हो तो हम विभवमापी का उपयोग करके उस अल्प प्रतिरोध का मान ज्ञात कर सकते है। यह हम किस प्रकार कर सकते है आइये इसके बारे में अध्ययन करते है। परिपथ बनावट चित्र (circuit diagram ) अल्प… Continue reading »

दो सेलों के विद्युत वाहक बलों की तुलना comparision of electro motive forces of two cells

comparision of electro motive forces of two cells दो सेलों के विद्युत वाहक बलों की तुलना : यदि हमें दो सेलो के वि.वा.बल की तुलना करनी है तो यह हम विभवमापी की सहायता से कर सकते है , अब यह हम किस प्रकार कर सकते है इसके बारे में हम विस्तार से आगे अध्ययन करते… Continue reading »

प्राथमिक सेल का आंतरिक प्रतिरोध ज्ञात करना determination of internal resistance of a primary cell

determination of internal resistance of a primary cell प्राथमिक सेल का आंतरिक प्रतिरोध ज्ञात करना : विभवमापी के अनुप्रयोग में से एक उपयोग यह भी है इसको प्राथमिक सेल आंतरिक प्रतिरोध का मान ज्ञात करने में प्रयोग करते है , अब यह किस प्रकार करते इसके बारे में आगे विस्तार से अध्ययन  करते है। चित्रानुसार… Continue reading »

विभवमापी का मानकीकरण , विभव मापी की सुग्राहिता standardisation of potentiometer

standardisation of potentiometer in hindi विभवमापी का मानकीकरण  : हम जानते है की लम्बाई के साथ साथ विभवान्तर में परिवर्तन को विभव प्रवणता कहते है हमने इसे यहाँ K से प्रदर्शित किया है , हमने विभवमापी क्या है में जब अज्ञात विद्युत वाहक बल ज्ञात किया तो प्राथमिक सेल तथा अज्ञात वि.धु.वा बल सेल का… Continue reading »

विभवमापी क्या है , पोटेंशियोमीटर संरचना चित्र , सिद्धान्त तथा कार्यविधि potentiometer diagram , principle

potentiometer diagram , principle working in hindi पोटेंशियोमीटर विभवमापी क्या है , संरचना चित्र , सिद्धान्त तथा कार्यविधि : एक ऐसा उपकरण जिसकी सहायता से किसी विभवान्तर या विद्युत वाहक बल का मापन किया जाता है उसे विभवमापी कहते है , इस युक्ति की सहायता से शुद्धता से विभवान्तर का मापन किया जाता है। अतः याद… Continue reading »