नाभिकीय विकिरण का अत्यधिक दुष्प्रभाव सबसे पहले मानव शरीर के किस अंग पर होता है ?

By  

प्रश्न : नाभिकीय विकिरण का अत्यधिक दुष्प्रभाव सबसे पहले मानव शरीर के किस अंग पर होता है?
(अ) आंखें (ब) फेफड़े
(स) त्वचा (द) अस्थि मज्जा
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2006
उत्तर – (अ)
नाभिकीय विकिरण का अत्यधिक दुष्प्रभाव सबसे पहले आंखों पर पड़ता है।

1. निम्नलिखित में से कौन-सी प्रजाति भारत में स्थानीय स्तर पर विलुप्त हो गई है?
(अ) जिप्स वल्चर (ब) साइबेरियाई सारस
(स) सफेद पेट वाले बगुले (द) जंगली उलूकक
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
साइबेरियाई सारस (Siberian Crane) भारत में स्थानीय स्तर पर विलुप्त हो गई हैं।
2. निम्नलिखित में से किन प्रजातियों का अस्तित्व अत्यंत खतरे मे है?
(अ) जंगली उलूक (ब) जिप्स बल्चर
(स) सफेद पेट वाले बगुले (द) गंगा की डॉल्फिन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
सफेद पेट वाले बगुले का वैज्ञानिक नाम आर्डिआ इनसिगनिस (Ardea insignis) है। इसे हाल ही में IUCN द्वारा अत्यंत खतरे (Critically Endangered) में अस्तित्व वाले प्रजातियों की सूची में भी में शामिल किया गया है।

4. निम्नलिखित में से कौन-सा सर्प विषरहित है?
(अ) नाग (ब) ड्रायोफिस
(स) इलेपस (द) अजगर
S.S.C. Tax Asst. परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
अजगर लगभग 6 मीटर लंबा और मोटा, भारी-भरकम तथा विषहीन सांप होता है। यह भेंड़, बकरी, गाय, हिरन को समूचा निगल जाता है। इसमें पश्चपादों के अवशेष पाए जाते हैं।
5. इन जानवरों में से किसके जबड़े नहीं होते?
(अ) ट्राइगोन (ब) शार्क
(स) मिक्साइन (द) स्फिर्ना
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
मिक्साइन (Myxine) जबड़ा रहित (Jawless) जन्तु है। यह साइक्लोस्टोमेटा वर्ग का सदस्य है।
6. इनमें प्रतिस्कंदक नहीं होते-
(अ) जोंक (ब) बर्र
(स) मच्छर (द) खटमल
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier – I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
घर में प्रतिस्कंदक नहीं होते हैं जबकि जोंक, मच्छर व खटमल में प्रतिस्कंदक पाए जाते हैं।
7. निम्नलिखित में से किस उभयचर के जिह्वा नहीं होती?
(अ) स्फीनोडॉन (ब) सैलामैन्डर
(स) इक्थियोफिस (द) नेवट्यूरस
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
सभी कॉर्डेटा संघ के उपसंघ वर्टीब्रेटा के अंतर्गत आते हैं। विकल्प (ब), (स) तथा (द) वर्टीब्रेटा के वर्ग एम्फीबिया (उभयचर) के हैं जिसमें इक्थियोफिस के जिह्वा नहीं होती।
8. निम्न में से कौन-से जानवर का संबंध मोलस्का से है?
(अ) हैलियोटिस (ब) खरगोश
(स) हाइला (द) हाइड्रा
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
हैलियोटिस (Haliotis) हैलियोटिडी कुल का एक मात्र जीनस (Genus) है। इससे संबंधित जन्तु मोलस्का संघ के अंतर्गत आते हैं।
9. पक्षियों के वैज्ञानिक अध्ययन को कहते हैं-
(अ) लिम्नॉलोजी (ब) हर्पिटॉलोजी
(स) मैलाकॉलोजी (द) ऑर्निथॉलोजी
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
ऑर्निथॉलोजी – पक्षियों का वैज्ञानिक अध्ययन
लिम्नॉलोजी – तालाबों, पोखरों, झीलों आदि के जीवों का अध्ययन हर्पिटॉलोजी – उभयचरों एवं सरीसृपों का अध्ययन
मैलाकॉलोजी – मोलस्का का अध्ययन
10. पक्षियों को उड़ने से रोकने की प्रक्रिया कहलाती है-
(अ) ब्रेलिंग (ब) डीबीकिंग
(स) डबिंग (द) पेक्किंग
S.S.C. F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
पक्षियों को उड़ने से रोकने की प्रक्रिया ‘बेलिंग‘ कहलाती है।
11. पक्षी और चमगादड़ अच्छा उड़ते हैं। चमगादड़ पक्षी से भिन्न है-
(अ) चार खाने वाला हृदय होने के कारण
(ब) मध्यपट (डायाफ्राम) के कारण
(स) पंखों के कारण
(द) लघु मस्तिष्क के कारण
S.S.C.  F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)

पक्षी और चमगादड़ दोनों अच्छी तरह से उड़ने में सक्षम होते हैं। चमगादड़ में मध्यपट (डायाफ्राम) उपस्थित होता है जबकि पक्षियों में डायाफ्राम के स्थान पर वायुकोष पाए जाते हैं।
12. शीत ऋतु में पशुओं के प्रसुप्ति-काल को क्या कहते हैं?
(अ) ऐस्टीवेशन (ब) रीजेनेरेशन
(स) हाइबरनेशन (द) म्यूटेशन
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
शीत ऋतु में पशुओं के प्रसुप्ति-काल को हाइबरनेशन (शीतकाल सोकर बिताना) कहते हैं।
13. सामान्यतः जीव अपना स्थान बदल सकते हैं, किंतु निम्न में से कौन-सा जीव स्थान नहीं बदल सकता?
(अ) हाइड्रा (ब) लीच
(स) तारामीन (स्टारफिश) (द) स्पंज
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
स्पंज, पॉरिफेरा (Porifera) समुदाय का सदस्य है। यह बिना मुख, पेशियों, हृदय और मस्तिष्क का एक साधारण जीव है। यह अन्य जीवों की तरह एक स्थान से दूसरे स्थान तक गति (Locomotion) नहीं कर सकता है।
14. भारत के राष्ट्रीय प्राणी का वैज्ञानिक नाम क्या है?
(अ) पैन्थेरा लिओ (ब) पैन्थेरा टाइग्रिस
(स) एलिफैस इण्डिकस (द) बोस डोमोस्टिकस
S.S.C.  स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
पैन्थेरा टाइग्रिस (टाइगर) को साधारण भाषा में बाघ कहते हैं। यह एक मांसाहारी स्तनधारी वर्ग का प्राणी है जो प्रायः जंगलों में निवास करता है। यह वर्ष 1972 से भारत के राष्ट्रीय प्राणी के रूप में जाना जाता है।
15. निम्नलिखित में से कौन-सी एक प्रकार की मछली है?
(अ) प्रवाल (मूंगा) (ब) रजतमीनाभ
(स) अश्वमीन (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
‘अश्वमीन‘ एक मछली है जो उथले उष्णकटिबंधीय और शीतोष्ण जल में पाई जाती है। यह विश्व की सबसे धीमे चलने वाली मछली है।
16. निम्नलिखित में से कौन-सी मछली है?
(अ) सिल्वर-फिश (ब) स्टार-फिश
(स) डॉग-फिश (द) कटल-फिश
S.S.C. CPO परीक्षा, 2007
उत्तर-(स)
सिल्वर-फिश – कीट
स्टार-फिश – इकाइनोडर्म
डॉग-फिश – मछली
कटल-फिश – मोलस्क
17. कॉकरोच जल में जीवित नहीं रह सकता क्योंकि उसका श्वसन अंग है-
(अ) क्लोम (गिल) (ब) वातक (ट्रैकिया)
(स) पुस्त फुप्फुस (द) फुप्फुस कोश
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
तिलचट्टे (Cockroach) का श्वसन तंत्र अनेक श्वास नलिकाओं (ट्रैकिया) से बनता है। ये नलिकाएं बाहर की ओर श्वासरंध्रों द्वारा खुलती हैं। तिलचट्टे में 10 जोड़े श्वासरंध्र होते हैं।
18. कशेरुकियों में सीसा विषाक्तता की निम्न विशेषता नहीं है-
(अ) अरक्तता (ब) गेटहीमोग्लोबिनीमिया
(स) तांत्रिकीय दोष (द) वृक्क की दुष्क्रिया
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
कशेरुकियों में सीसा विषाक्तता से अरक्तता (Anaemia) नहीं होती है। सामान्यतः लाल रक्त कणिकाएं हीमोग्लोबिन नामक प्रोटीन का प्रयोग कर सारे शरीर में ऑक्सीजन वहन करने का कार्य करती हैं। इसी हीमोग्लोबिन नामक प्रोटीन की कमी से अरक्तता होती है।
19. ऐसे अकशेरुकी को क्या कहते हैं जो उभयलिंगी नहीं होता?
(अ) फीता कृमि (ब) हाइड्रा
(स) केंचुआ (द) कॉकरोच
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
आर्थोपोडा संघ के अकशेरुकी उभयलिंगी नहीं होते हैं। ये प्रायः एक-लिंगी होते हैं तथा इनमें निषेचन शरीर के अंदर होता है। कॉकरोच, खटमल आदि बहुत से कीट इसके अंतर्गत आते हैं।
पारिस्थितिक तंत्र
ऑफलाइन परीक्षा-प्रश्न (2006-2015)
1. जीवों के उनके पर्यावरण के संबंध में अध्ययन को क्या कहते हैं?
(अ) प्राणि विज्ञान (ब) कीट विज्ञान
(स) बहुपद विज्ञान (द) पारिस्थितिकी विज्ञान
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
पारिस्थितिकी विज्ञान के अंतर्गत हम जीव समुदायों यथा-जंतु व वनस्पति का उसके वातावरण के साथ पारस्परिक संबंधों का अध्ययन करते हैं।
2. निम्नलिखित में से कौन-सा शब्द न केवल जीव द्वारा अधिकृत भौतिक स्थान को, बल्कि जीव-समुदाय में उसकी प्रकार्यात्मक भूमिका को भी वर्णित करता है?
(अ) इकोनिच (ब) इकोसिस्टम
(स) इकोजोन (द) आवास क्षेत्र
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
‘इकोसिस्टम‘ (पारिस्थितिक तंत्र) एक प्राकृतिक इकाई है जिसमें एक क्षेत्र के सभी जैविक कारक शामिल हैं जो पर्यावरण के सभी अजैव कारकों के साथ काम करते हैं।
3. प्राणि विज्ञान की उस शाखा का नाम जिसमें पशु व्यवहार का वैज्ञानिक अध्ययन किया जाता है-
(अ) पारिस्थितिकी (ब) शरीर विज्ञान
(स) जीव पारिस्थितिकी (द) शरीररचना विज्ञान
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(*)
प्राणि विज्ञान की जिस शाखा में हम पशु व्यवहार का वैज्ञानिक अध्ययन करते हैं, वह ईथोलॉजी (Ethology) कहलाता है। यह पारिस्थितिकी मनोविज्ञान एवं शरीर रचना विज्ञान से संबंधित है।
4. खाद्य-श्रृंखला में सबसे निचला स्तर है-
(अ) उपभोक्ता (ब) दूसरा उपभोक्ता
(स) उत्पादक (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier&I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
खाद्य-श्रृंखला (Food-Chain) निम्नलिखित क्रम में होती है (नीचे से ऊपर स्तर)-
उत्पादक → शाकभक्षी → मांसभक्षी
(प्रथम उपभोक्ता) (द्वितीय उपभोक्ता)
उदाहरणार्थ (अ) घास (निचला स्तर) → हिरन – शेर
(ब) घास (निचला स्तर) → टिड्डा → मेदक → सर्प → बाज