आत्मघाती बैग कहे जाते है ? निम्न में, से कौन-से कोशिकाओं के आत्मघाती बैग कहे जाते है ? किसे कहते हैं ?

By  

कोशिका एवं आनुवांशिकता
ऑनलाइन परीक्षा-प्रश्न (2016)
 निम्न में, से कौन-से कोशिकाओं के आत्मघाती बैग कहे जाते है ?
– लाइसोसोम्स
 सहचर कोशिकाएं ब्रायोफाइट, टेरिडोफाइट्स एन्जियोस्पर्म (आवृतबीजी) तथा जिम्नोस्पर्म (अनावृतबीजी) में से सिर्फ किसमें है?
– एन्जियोस्पर्म (आवृतबीजी)
 बहुगुणिता (पॉलिप्लॉयडी) किसमें परिवर्तन होने पर होती है?
– क्रोमोसोम की संख्या
ऑफलाइन परीक्षप्रश्न (2006-2015)
1. निम्नलिखित में से कौन-सी आनुवांशिक रूप से परिष्कृत सब्जी हाल में भारतीय बाजार में उपलब्ध करा दी गई है?
(अ) गाजर (ब) मूली
(स) बैंगन (द) आलू
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
आनुवांशिक रूप से परिष्कृत सब्जी बैंगन को अभी हाल में ही खेत में परीक्षण (Field trial) की अनुमति सरकार ने प्रदान की है।
2. फर्न की स्त्रीधानी में कितनी ग्रीवा नाल कोशिकाएं पाई जाती हैं?
(अ) एक (ब) दो
(स) तीन (द) चार
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier) परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
फर्न की स्त्रीधानी में एक ग्रीवा नाल कोशिकाएं पाई जाती हैं।
3. सेलुलोज मित्ति किसके सेलों में पाई जाती है?
(अ) जंतु (ब) बैक्टीरिया
(स) फंजाइ (कवक) (द) पौधे
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
पेड़-पौधों की कोशिकाओं में कोशिका झिल्ली के अतिरिक्त एक अन्य परत होती है जिसे कोशिका भित्ति कहते हैं। पादप कोशिका मित्ति सेलुलोज की बनी होती है।
4. श्वसन मूल किसमें पाए जाते हैं?
(अ) मरुमिद (ब) लवणमृदोद्भिद
(स) अधिपादप (द) जलोमिद
S.S.C. स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी‘ एवं ‘डी‘) परीक्षा, 2014
उत्तर-(’)
श्वसन मूल जलोद्भिद एवं लवणमृदोद्भिद दोनों पादपों में पाये जाते हैं। ये पौधे उन स्थानों पर पाए जाते हैं जहां की जमीन में ऑक्सीजन की मात्रा बहुत कम या न के बराबर होती है। इन पौधों के जड़ों के कुछ भाग जमीन से बाहर आते हैं। वे श्वसन में मदद करते हैं, उन्हीं को श्वसन मूल कहते हैं। श्वसन मूल मैंग्रोव प्रजाति का एक विशिष्ट लक्षण है।
5. शीत-संवेदी पादपों के झिल्ली के लिपिड में क्या होता है?
(अ) कम अनुपात में संतृप्त वसा अम्ल
(ब) कम अनुपात में असंतृप्त वसा अम्ल
(स) समानुपात में संतृप्त एवं असंतृप्त वसा अम्ल
(द) उच्च अनुपात में असंतृप्त वसा अम्ल
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
शीत-संवेदी पादपों के झिल्ली के लिपिड में उच्च अनुपात में असंतृप्त वसा अम्ल पाया जाता है। इसमें यह ग्लिसरॉल के रूप में पाया जाता है।
6. संरचनाओं के कौन-से युग्म प्रायः पादप और जंतु दोनों कोशिकाओं में पाए जाते हैं?
(अ) कोशिका भित्ति और न्यूक्लिअस
(ब) न्यूक्लिअस और क्लोरोप्लास्ट
(स) अंतर्द्रव्यी जालिका और कोशिका कला
(द) कोशिका कला और कोशिका भित्ति
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
पौधों में विकसित त्रिस्तरीय कोशिका भित्ति पाई जाती है जबकि जंतु कोशिका में कोशिका भित्ति नहीं पाई जाती है। जंतुओं में क्लोरोप्लास्ट (हरित लवक) का भी अभाव होता है। अंतर्द्रव्यी जालिका और कोशिका कला दोनों में पाई जाती हैं।
7. स्वपरागण का परिणाम क्या होगा?
(अ) बहिःप्रजनन (ब) अंतःप्रजनन
(स) विरल प्रजनन (द) अतिप्रजनन
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
यदि किसी पुष्प में परागण उसी के पराग द्वारा होता है तो उसे ‘स्वपरागण‘ कहते हैं। स्वपरागण का परिणाम अंतःप्रजनन होगा।
8. DNA का जलरागी स्वरूप किसकी मौजूदगी के कारण होता है?
(अ) थायमीन बेस (स) फॉस्फेट वर्ग
(ब) विभिन्न हाइड्रोजन बंध (द) डीआक्सीराइबोज शर्करा
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2015
उत्तर-(*)
फॉस्फेट और शर्करा समूहों में विद्युत आवेशी ध्रुवीय (Polar) परमाणुओं के कारण क्छ। अणु की पार्यों में स्थित फॉस्फेट शर्करा श्रृंखलाएँ जलरागी (hydrophilic) होती हैं। ये केंद्रकीय द्रव्य अर्थात न्यूक्लियोप्लाज्म (Nucleoplasm) के संपर्क में रहती हैं। इसके विपरीत, अध्रुवीय (Nonpolar) समाक्षार जलरोधी (Hydrophobic) होते हैं और केंद्रकीय द्रव्य से हटकर क्छ। अणु के अक्षीय भाग में होते हैं।
9. नारियल का पानी है-
(अ) तरल बीजांडकाय (ब) तरल मध्य फल-भित्ति
(स) तरल एंडोकार्प (द) विकृत तरल ऐंडोस्पर्म
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
नारियल का पानी विकृत तरल एंडोस्पर्म है।
10. नारियल-जटा (कॉइर) प्राप्त की जाती है-
(अ) क्रोटालेरिया जन्सिया से
(ब) बॅसिका कैम्पेस्ट्रिस से
(स) कोकोस न्यूसिफेरा से
(द) गौसीपियम आर्बोरियम से
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
नारियल जटा (कॉइर) नारियल से प्राप्त होती है। नारियल का वैज्ञानिक नाम ‘कोकोस न्यूसिफेरा‘ है।
11. जतुपरागण का आशय क्या है?
(अ) पत्तियों का उत्पादन (ब) फूलों का उत्पादन
(स) आंधी द्वारा परागण (द) जतुक द्वारा परागण
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
जतुपरागण (Chiropterophily) से तात्पर्य चमगादड़ अर्थात जतुक द्वारा परागण से है। उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में यह अत्यधिक घटित होता है। सैकड़ों उष्णकटिबंधीय (Tropical) प्रजातियों परागण जतुकों द्वारा किया जाता है।
12. उच्चतर पौधों के बीजों के पोषक ऊतक को क्या है?
(अ) हाइपोकोटाइल (ब) एम्ब्रियो
(स) एंडोस्पर्म (द) न्यूसेलस
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
अधिकतर पुष्पीय पौधों के बीजों में निषेचन के समय एक ऊतक का निर्माण होता है जिसे एंडोस्पर्म (भ्रूणपोष) कहते हैं। भ्रूणपोष, भ्रूण को चारों ओर से ढके रहता है जिसमें संग्रहीत भोजन होता है जो बीज को पोषण प्रदान करता है।
13. ‘जी.एम. फूड‘ से आशय उस खाद्य से है-
(अ) जो आनुवांशिक उपायों के अंतर्गत पैदा होता है
(ब) जो आनुवांशिकतः रूपांतरित है
(स) जो भौगोलिक अपरिवर्तन के अंतर्गत पैदा होता है
(द) जिसमें अधिक ग्लूकोस उपापचय क्षमता है
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2007
उत्तर-(ब)
जेनेटिकली मॉडीफाइड फूड (जी.एम.फूड) से आशय उस खाद्य से है जो आनुवांशिकतः रूपांतरित अर्थात् ट्रांसजेनिक है।
14. निम्न में से किस कोशिकाद्रव्यी कोशिकांग को यूकैरियॉटिक कोशिकाओं के भीतर प्रोकैरियॉटिक कोशिकाएं माना जाता है?
(अ) सूत्रकणिका (माइटोकॉन्ड्रिया)
(ब) गॉल्जीकाय
(स) लाइसोसोम
(द) ग्लाइऑक्सिसोम
S.S.C. संयुक्त हायर सेकेण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(अ)
सूत्रकणिका (माइटोकॉन्ड्रिया) को यूकैरियॉटिक कोशिकाओं के भीतर प्रोकैरियॉटिक कोशिकाएं माना जाता है क्योंकि माइटोकॉन्ड्रिया में सरकुलर डी.एन.ए. और 70ै राइबोसोम पाया जाता है जो कि प्रोकैरियॉटिक कोशिकाओं का लक्षण है।
15. निम्नलिखित में से किसको सेल का श्पॉवर प्लांटश् भी कहा जाता है?
(अ) गॉल्जीकाय (ब) माइटोकॉन्ड्रिया
(स) राइबोसोम (द) लाइसोसोम
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(ब)
माइटोकॉन्ड्रिया की खोज अल्टमैन ने 1886 ई. में की थी। माटोकॉन्ड्रिया दोहरी झिल्ली से घिरा होता है। बाह्य झिल्ली किनी होती है और भीतरी अंगुलीनुमा संरचना बनाती है। इसके भीतर मैट्रिक्स भरा होता है। मैट्रिक्स तथा भीतरी झिल्ली में उपस्थित एन्जाइम आक्सीश्वसन के लिए आवश्यक होते हैं और इस क्रिया में ऊर्जा पैदा होती है, इसलिए इसको ‘कोशिका का शक्ति गृह‘ (Power house of cell) या ‘ऊर्जा केंद्र‘ भी कहा जाता है।
16. निम्नलिखित में से किसे ‘कोशिका का ऊर्जा केंद्र‘ कहा जाता है?
(अ) न्यूक्लियस (ब) लाइसोसोम
(स) क्रोमोसोम (द) माइटोकॉन्ड्रिया
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
17. न्यूक्लियस के बाहर क्छ। कहां मिलता है?
(अ) राइबोसोम (ब) अंतर्द्रव्यी जालिका
(स) माइटोकॉन्ड्रिया (द) गाल्जी काय
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
कोशिका में क्छ। सामान्यतः न्यूक्लियस में पाए जाते हैं। न्यूक्लियस के बाहर ये माइटोकॉन्ड्रिया में मिलते हैं।
18. कोशिका में निम्न में से कौन-सी पाचन थैली (Digestive Bag) कहलाती है?
(अ) गॉल्जीकाय (ब) माइटोकॉन्ड्रिया
(स) राइबोसोम (द) लाइसोसोम
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
लाइसोसोम की खोज क्रिश्चियन रेने डी ड्यूवे ने वर्ष 1955 में की तथा इन्हें इस खोज के लिए नोबेल पुरस्कार वर्ष 1974 में था। जंतु कोशिका के कोशिका द्रव में पाए जाने वाले आवरण युक्त गोल-गोल थैलीनुमा अंगाणुओं को लाइसोसोम कहते हैं। यह अंतः कोशिकीय तथा बाह्य कोशिकीय पाचन में मदद करता है। लाइसोसोम अपघटन एन्जाइम की थैलियां हैं जो बहुत सारे पदार्थों को अपघटित करती हैं। इसको, ‘कोशिका का आत्मघाती थैला‘ और ‘एटम बम‘ कहा जाता है।
19. निम्न में से किस कोशिकांग को ‘एटम बम‘ कहते हैं?
(अ) सूक्ष्मनलिका (ब) न्यूक्लिओलस
(स) गॉल्जीकाय (द) लाइसोसोम
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
20. यूकैरियॉटिक सेल में प्लाज्मा झिल्ली किससे बनी होती है?
(अ) फॉस्फोलिपिड (ब) लिपोप्रोटीन
(स) फॉस्फोलिपो-प्रोटीन (द) फॉस्फो-प्रोटीन
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(स)
यूकैरियॉटिक सेल में प्लाज्मा झिल्ली फॉस्फोलिपिड तथा प्रोटीन की बनी होती है।
21. फ्लोएम में सहचर कोशिकाएं किसमें पाई जाती हैं?
(अ) अनावृतबीजी (ब) ब्रायोफाइटा
(स) टेरिडोफाइटा (द) आवृतबीजी
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
फ्लोएम में सहचर कोशिकाएं आवृतबीजी में पाई जाती हैं।
22. चालनी पट्टिका एक भाग है-
(अ) एधा (कैम्बियम) का
(ब) दारु (जाइलम) का
(स) वल्कुट (कॉर्टेक्स) का
(द) पोषवाह (फ्लोएम) का
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
जाइलम की तरह फ्लोएम भी पौधों में पाया जाने वाला एक संवहन ऊतक है। यह संवहन बंडल के अंदर पाया जाता है। इसका निर्माण चार प्रकार की कोशिकाओं 1. चालनी नलिकाओं, 2. सहकोशिकाओं, 3. फ्लोएम मृदूतक तथा 4. फ्लोएम तंतु से मिलकर होता है।
23. आलू में श्अक्षियांश् मदद करती हैं –
(अ) यौन जनन में (ब) कायिक जनन में
(स) खाद्य सामग्री के भंडारण में (द) कंद के सौंदर्य के लिए
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
आलू में ‘अक्षियां‘ (मलमे) कायिक (Somatic) जनन में मदद करती हैं।
24. बहुअंडपी (मल्टीकापेलरी) वियुक्तांडपी (एपोकार्पस) जायांगीयता (जायनोसियम) से किस किस्म का फल प्राप्त होता है?
(अ) गुच्छेदार (ब) साधारण
(स) बहुखंडीय (द) संयुक्त
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (ज्पमत.प्) परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
गुच्छेदार फल एक ही फूल के कई अंडाशय के साथ शामिल होने से बनता है। उदाहरणार्थ-स्ट्रॉबेरी, ब्लेकबेरी, आदि।