भौतिक राशियाँ , मूल और व्युत्पन्न राशि क्या है , परिभाषा , प्रकार physical quantities in hindi

By  
(physical quantities in hindi) भौतिक राशियाँ : वे राशियाँ जिनका मापन और तौलन संभव हो अर्थात जिन राशियों को मापना या तौलना संभव हो उन्हें भौतिक राशियाँ कहलाती है।
भौतिक राशि को दो भागों में लिखा जाता है , पहले राशि का संख्यात्मक मान लिखा जाता है और फिर राशि का मात्रक लिखा जाता है।
राशि का संख्यात्मक मान उसकी मात्रा को बताता है तथा मात्रक उसका प्रकार बताती है की राशि किस प्रकार की है अर्थात राशि किस चीज को व्यक्त कर रही है।
उदाहरण – जैसे एक पैकेट में लिखा है 1 Kg , इसका अभिप्राय यह है की इस पैकेट में 1 किलो भार है तथा Kg मात्रक दर्शाता है की इसको भार या द्रव्यमान के रूप में व्यक्त किया जाता है।
भौतिक राशियाँ विभिन्न प्रकार की हो सकती है , जैसे द्रव्यमान , समय , बल , वेग तथा लम्बाई आदि।
भौतिक राशियाँ दो प्रकार की होती है –
1. मूल राशियाँ (fundamental quantities)
2. व्युत्पन्न राशियाँ (derived quantities)

1. मूल राशियाँ (fundamental quantities)

वे भौतिक राशियाँ जो स्वतंत्र होती है तथा अन्य किसी राशि पर निर्भर नहीं होती है मूल राशियाँ कहलाती है।
उदाहरण – द्रव्यमान , लम्बाई तथा समय आदि।

2. व्युत्पन्न राशियाँ (derived quantities)

वे भौतिक राशियाँ जो स्वतंत्र नहीं होती है अर्थात ये आत्म निर्भर नही होती है।  व्युत्पन्न राशियाँ मूल राशियों पर निर्भर करती है। अर्थात इनकी रचना मूल राशियों की सहायता से किया जाता है।
जैसे – बल को व्यक्त करने के लिए निम्न प्रकार लिखा जाता है
बल = द्रव्यमान x त्वरण
हम यहाँ देख सकते है की सभी राशियाँ मूल राशि के रूप है , अत: हमने व्युत्पन्न राशि बल को मूल राशि के रूप में व्यक्त कर दिया या दूसरे शब्दों में कहे तो मूल राशि से ही व्युत्पन्न राशि का निर्माण हुआ है।